ओडिशा में कांग्रेस के बंद का मिलाजुला असर

  • ओडिशा में कांग्रेस के बंद का मिलाजुला असर
You Are HereNational
Tuesday, January 07, 2014-3:17 PM

भुवनेश्वर: ओडिशा में विपक्षी कांग्रेस पार्टी द्वारा मंगलवार को आहूत एक दिवसीय बंद का मिलाजुला असर देखने को मिली है। बंद का यह आयोजन करोड़ों रुपये के कथित खनन घोटाले को लेकर आहूत किया गया है। पुलिस ने बताया कि दुकानें और व्यवसायिक प्रतिष्ठान बंद हैं, जबकि निजी और सरकारी बसें और अन्य वाहन सड़कों से नदारद हैं। प्रदर्शन से रेलगाडिय़ों का आवागमन भी प्रभावित हुआ है।

 

कांग्रेस ने हालांकि बुधवार को भुवनेश्वर नगर निगम (बीएमसी) के होने वाले चुनाव के मद्देनजर भुवनेश्वर को इस हड़ताल से अलग रखने का फैसला किया है, लेकिन सैंकड़ों कार्यकर्ताओं ने रेलवे स्टेशन के अलावा शहर के विभिन्न स्थानों पर सांकेतिक बंद आयोजित किया। कटक के एक नियंत्रण कक्ष के पुलिस अधिकारी ने कहा,  ‘‘इसका मिलाजुला असर है। सम्बलपुर, राउरकेला, अंगुल, कटक, बोलांगिर, बारगढ़ और जगतसिंघपुर सहित ज्यादातर शहरी इलाकों में रेल, बस सेवा प्रभावित हुई है। लोगों ने सड़कें जाम कर दी हैं।’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘हालांकि, कई ग्रामीण इलाकों में इसका प्रभाव नहीं है।’’ कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सरत पटनायक ने बताया, ‘‘बंद सफल है। लोगों ने हमारे आह्वान का समर्थन किया है। मुख्यमंत्री को इस्तीफा देना होगा और उन्हें खनन घोटाले की केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से जांच कराए जाने का आदेश देना होगा।’’

 

सत्तारूढ़ बीजू जनता दल (बीजद) का कहना है कांग्रेस द्वारा आहूत बंद का कोई असर नहीं है। राजस्व व आपदा प्रबंधन मंत्री सूर्य नारायण पात्रो ने कहा, ‘‘जनता ने कांग्रेस के आह्वान को ठुकरा दिया है।’’ न्यायमूर्ति एम.बी.शाह आयोग द्वारा राज्य सरकार के खनन घोटाले में शामिल रहने की बात कहे जाने के बाद से राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से इस्तीफे की मांग कर रही है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You