5 दर्जन थाने किराए के भवन में

  • 5 दर्जन थाने किराए के भवन में
You Are HereNcr
Tuesday, January 07, 2014-3:33 PM

नई दिल्ली (सतेन्द्र त्रिपाठी): हाईटैक दिल्ली पुलिस के पास अपने थानों के लिए भवन तक नहीं है। ऐसे थानों की संख्या एक-दो नहीं बल्कि 5 दर्जन से ज्यादा है। ये थाने किराए के भवन में या फिर अस्थायी भवन में चल रहे हैं। कहीं भवन है भी तो उसकी हालत देखकर ही रोना आ जाता है। बैरक की हालत खस्ता, कैंटीन का पता नहीं। शौचालयों की हालत खराब।

सुविधाओं की कमी के बीच उम्मीद सबसे अच्छी पुलिस होने की। इतना ही नहीं दिल्ली की पुलिस एक मात्र ऐसी पुलिस है, जिसके पास अपना मुख्यालय तक नहीं है। दिल्ली पुलिस में इस वक्त 85 हजार के करीब कर्मचारी व अधिकारी है। दिल्ली में अगर थानों की बात करे तो इनकी संख्या 181 है। इनमें से 113 अपने भवनों में चल रहे है और 10 थानों के भवनों का काम चल रहा है। बाकी बचे 58 के पास अपना भवन ही नहीं है। इनमें से कुछ किराए के भवनों में तो कुछ अस्थाई भवनों में चल रहे हैं।

अपना भवन न होने की वजह से इन थानों में जवानों के पास मूलभूत सुविधाएं भी नहीं है। 24 घंटों तक ड्यूटी करने के बाद इन्हें आराम करने के लिए कोई जगह तक नहीं मिल पाती है। पुलिस मुख्यालय के लिए तो संसद मार्ग पर नया भवन बनाए जाने की तैयारी चल रही है लेकिन इन 58 थानों को कब अपना भवन मिलेगा, कोई नहीं जानता। कई जगहों पर जहां थाने चल रहे है, वहां कहीं खाली जगह ही नहीं है। ऐसे में किराए के भवन में काम करना मजबूरी है लेकिन जहां सरकारी जगह है तो वहां भवन न बनाया जाना समझ से परे है। उत्तर पूर्वी जिला का उस्मानपुर थाना बेहद खस्ता हालत में है। लेकिन यहां भवन बनाए जाने के लिए कुछ नहीं किया जा रहा है। इस तरह की अन्य थानों का भी हाल है।

दिल्ली पुलिस के अधिकारियों का कहना है कि पिछले साल पांच थानों को भवन तो बनाए गए है। इनमें जी.टी.बी. एंक्लेव, खजूरी खास, बेगमपुर, टिकरी कलां व बाराखम्बा रोड शामिल है। तीन पुलिस चौकियों के लिए भी भवन बनाए गए है। इनमें हिम्मतगढ़, कोंडली-घड़ौली व रोहिणी सैक्टर-2 शामिल है। 58 थानों के लिए भवन बनाए जाने के लिए जगह की तलाश चल रही है। उम्मीद है कि धीरे-धीरे इन थानों के भवन भी बन जाएंगे। दिल्ली पुलिस का कहना है जो नए भवन बनाए जा रहे है, उनमें तमाम तरह की अत्याधुनिक सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा रही है। उत्तर पश्चिम जिले के मुखर्जी नगर थाने में तो नए भवन में लिफ्ट तक लगाई गई है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You