निगम स्कूलों में शिक्षकों के पद जल्द भरे जाएंगे

  • निगम स्कूलों में शिक्षकों के पद जल्द भरे जाएंगे
You Are HereNcr
Tuesday, January 07, 2014-3:53 PM

वेस्ट दिल्ली (कार्तिकेय हरबोला): अब वह दिन दूर नहीं, जब निगम स्कूलों में पढऩे वाले बच्चे भी प्राइवैट स्कूलों के बच्चों से टक्कर ले सकेंगे। निगम स्कूलों में पढऩे वाले बच्चों के शिक्षा के स्तर को बेहतर करने के लिए जल्द ही स्कूलों में खाली पड़े शिक्षकों के रिक्त पदों को भरा जाएगा। इसके लिए निगम ने कवायद शुरू कर दी है।

बच्चों को पढ़ाई के अतिरिक्त उनकी रुचि के मुताबिक विषयों जैसे संगीत, ड्राईंग, पैंटिंग व शारीरिक शिक्षा के लिए अलग से अध्यापकों की भर्ती की जाएगी। साथ ही, नर्सरी व प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षा के स्तर को भी सुधारा जाएगा। वर्तमान में निगम स्कूलों में अध्यापकों की कमी है। सबसे ज्यादा समस्या ग्रामीण इलाकों में है। कंझावला, रिठाला, बवाना, ननजफगढ़, पूठकलां, भलस्वा व जहंागीरपुरी सहित कई अन्य जगह निगम विद्यालयों की हालत बदतर है।

765 प्राथमिक विद्यालयों में 488 अध्यापक नियुक्त होंगे
पार्षदों द्वारा कई बार बैठकों में इस मुद्दे को उठाए जाने के बाद बजट में शिक्षकों की भर्ती को लेकर अलग से प्रावधान किया गया है। इसके तहत उत्तरी दिल्ली नगर निगम (एन.डी.एम.सी.) के 765 प्राथमिक विद्यालयों में 488 अध्यापकों, 19 नर्सरी विद्यालयों में 114 अध्यापकों के अलावा 200 विशेष अध्यापकों की नियुक्ति की जाएगी।

50 संगीत और 50 ड्राइंग के विशेष अध्यापक
विशेष अध्यापकों में 50 अध्यापक संगीत के लिए, 50 ड्राईंग व पैंटिंग के लिए और करीब 100 अध्यापक शारीरिक शिक्षा के लिए रखे जाएंगे। अधिकारियों की मानें तो कुल शिक्षकों की भर्ती का आधा हिस्सा ग्रामीण इलाकों के निगम स्कूलों को बेहतर बनाने के लिए विशेष रूप से रखा जाएगा।

कमिश्नर से मिलें निगम शिक्षक

दिल्ली नगर निगम शिक्षक संघ के बैनर तले शिक्षकों का एक प्रतिनिधिमंडल सोमवार को नगर निगम शाहदरा उत्तरी दिल्ली कार्यालय में डिप्टी कमिशनर अल्का शर्मा व सहायक निदेशक राजीव मोर्या से मिला। शिक्षकों ने अधिकारियों के समक्ष अपनी मांगें रखी। जिस पर दोनों अधिकारियों ने शिक्षकों की सभी मांगों पर जल्द से जल्द उचित कार्रवाई करने का आश्वासन दिया। संघ के अध्यक्ष महीपाल सिंह ने बताया कि पिछले तीन माह से निगम शिक्षकों को सैलरी नहीं मिली है। संघ की मांग है कि वह शिक्षकों के पुराने बिल पास करें। जल्द से जल्द विभाग में क्लर्क के रिक्त पद भरें जाए। उनका कहना था कि अगर 15 दिन के भीतर अगर उनकी सभी मांगे नहीं मानी गई तो वह निगम कार्यालय पर धरना-प्रदर्शन करेंगे। इस मौके पर संघ के खलेंद्र, गौरव बंसल, मंटो बंसल, ललित गोस्वामी, नरेंद्र पाल, समेत अन्य कई लोग मौजूद थे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You