यूपी सरकार लेगी 515 रसूखदारों की सुरक्षा वापिस!

  • यूपी सरकार लेगी 515 रसूखदारों की सुरक्षा वापिस!
You Are HereNational
Wednesday, January 08, 2014-12:42 PM

लखनऊ: हाईकोर्ट की सख्ती के बाद हरकत में आई यूपी सरकार वीआईपी सुरक्षा को स्टेटस सिंबल मानने वाले 515 रसूखदारों की सुरक्षा वापिस ले सकती है। जानकारी के अनसुार पता चला है कि 515 रसूखदारों में 353 रसूखदारों ऐसे है जिन्होंने सरकारी सुरक्षा तो ले ली, लेकिन सुरक्षा के एवज में चुकाई जाने वाली रकम का भुगतान नहीं किया है। जिसकी कीमत करीब दो करोड़ रुपये है। बताया जा रहा है कि इनमें 163 ऐसे लोग हैं जिन्हें जिले से सुरक्षा की मंजूरी नहीं मिली थी, लेकिन उन लोगों ने बड़े नेताओं की सिफारिशों के जरिए शासन से सुरक्षा पा ली थीइसके बाद मंगलवार को इस संबंध में गृह विभाग में गहन बैठक की गई। जिसके बाद यूपी सरकार ने 515 रसूखदारों की सुरक्षा वापस लेना फैसला किया है। बताया जा रहा है कि इस संबंध में सभी जिलों के एसपी, एसएसपी और डीआईजी रेंज को आदेश जारी कर दिए हैं।

दूसरी तरफ समाजवादी पार्टी ने गाडिय़ों पर अवैध रुप से हूटर व लालबत्ती के प्रयोग को लेकर सख्त रवैया अख्तियार कर लिया है। जिलाध्यक्ष चौ.जगपाल सिंह गुर्जर ने कार्यकताओं से अनुशासन में रहने और गाडिय़ों पर हुटर व लालबत्ती का प्रयोग न करने की हिदायत दी है। इस दौरान उन्होंने लोकसभा प्रत्याशी इमरान मसूद एवं पूर्व मंत्री असलम खान की संस्तुति पर रागिब अंजुम के स्थान पर जीशान प्रधान को बेहट विधान सभा अध्यक्ष घोषित किया। अंबाला रोड स्थित पार्टी कार्यालय पर लोकसभा चुनाव 2014 की सफलता को कार्यकर्ताओं की बैठक हुई। इसमें जिलाध्यक्ष ने कार्यकर्ताओं से अनुशासन में रहने को कहा कि वह अवैध रुप से हूटर व लालबत्ती का प्रयोग न करें। यदि कोई कार्रवाई होती है तो कार्यकर्ता स्वयं जिम्मेदार होंगे।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You