जहां से उम्मीदें हैं, वहीं ध्यान देगी कांग्रेस

  • जहां से उम्मीदें हैं, वहीं ध्यान देगी कांग्रेस
You Are HereNcr
Wednesday, January 08, 2014-1:29 PM

नई दिल्ली (अजीत के. सिंह): कांग्रेस पार्टी 2014 लोकसभा चुनाव में उन राज्यों पर ज्यादा ध्यान देने वाली है जहां से उन्हें बेहतर परिणाम मिलने के उम्मीद हैं। इसकी कवायद अभी से शुरू हो गई है। इसी के मद्देनजर कांग्रेस पार्टी दक्षिण भारत से आने वाले नेताओं का कद पार्टी में बढ़ाने जा रही है।

कर्नाटक से आने वाले जयराम रमेश और तमिलनाडु से आने वाली जयंती नटराजन का कद पार्टी में ऊंचा होने जा रहा है। अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी (एआईसीसी) की 17 जनवरी को होने वाली बैठक में इनकी नई जिम्मेदारियों का खुलासा हो सकता है। पार्टी का मानना है कि इन दानों राज्यों में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रधानमंत्री उम्मीदवार नरेंद्र मोदी का असर नहीं है, ऐसे में अगर पार्टी इन राज्यो पर ज् यादा ध्यान दे तो इस साल होने वाले लोक सभा चुनाव में पार्टी की अच्छी स्थिति देखने को मिल सकती है।

कर्नाटक में भी कांग्रेस की सरकार है, ऐसे में कांग्रेस वहां से बेहतर परिणाम की उम्मीद रख सकती है। सूत्रों की मानें तो जनार्दन द्विवेदी  और शकील अहमद का पद पार्टी में छोटा किया जा सकता है।द्विवेदी और अहमद अभी पार्टी में जनरल सेक्रेटरी के पद पर हैं। सूत्र बता रहे हैं कि इन दोनों से ये पद लेकर जयराम रमेश और जयंती नटराजन को दिए जाएंगे।

एआईसीसी की बैठक में मधुसूदन मिस्त्री को भी कोई बड़ा पद दिया जा सकता है। मिस्त्री गुजरात से आते हैं। पार्टी को उम्मीद है कि आम आदमी पार्टी की गुजरात में आक्रामक रणनीति से वहां भाजपा को नुकसान हो सकता है और कांग्रेस के लिए जगह बन सकती है।  उत्तर और पूर्व भारत में क्षेत्रीय पार्टियों की मजबूत स्थिति और नरेंद्र मोदी के प्रभाव को देखते हुए पार्टी यहां तत्काल ज्यादा ध्यान देने के मूड में नहीं दिख रही है।          


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You