मारपीट, छेडख़ानी व धमकी का दर्द पूछ रहा बोर्ड

  • मारपीट, छेडख़ानी व धमकी का दर्द पूछ रहा बोर्ड
You Are HereNcr
Wednesday, January 08, 2014-2:01 PM

नई दिल्ली (अभिषेक आनन्द): स्कूलों में छात्रों के साथ हुई जिस जोर-जबर्दस्ती की घटना को हल्के में लिया जाता है लेकिन अब सी.बी.एस.ई. ने उसके खिलाफ बड़ी पहल की है। बोर्ड ने देशभर के छात्रों से एक ऑन लाइन सर्वे में भाग लेने का अनुरोध किया है ताकि जानकारी मिल सके कि छात्रों को किस प्रकार परेशानी का सामना करना पड़ता है।

पहला सवाल है कि पिछले साल में कितनी बार गुंडागर्दी की गई, दबंगई दिखाया गया या आपको दुख पहुंचाया गया। उत्तर में आप कह सकते हैं, जीरो, एक, 2 या फिर 10 या 10 से ज्यादा। दूसरा सवाल है कि आपने किसी को बीते साल में कितनी बार शारीरिक तौर पर छेडख़ानी का शिकार होते देखा। आपके साथ क्लासरूम में दबंगई या छेडख़ानी की गई, शिक्षक की मौजूदगी में घटना हुई या शिक्षक के क्लास में नहीं रहने पर या कहीं बस स्टॉप के पास तो परेशान नहीं किया।

स्कूल के आस-पास की घटना भी मांगी गई है। अगर किसी ने सीधे-सीधे परेशान न करके इनडायरेक्टली परेशान किया गया तब भी बताएं। साइबर छेडख़ानी पर भी सवाल हैं। यह बताना होगा कि जब छात्र के साथ कोई घटना हुई तो क्या वह भाग गया और इसके बाद आगे से उसे परेशान नहीं किया या फिर उसने इग्नोर किया और इससे छुटकारा पाने में मदद मिल गई। क्या आपने किसी भी तरह के दबंगई का विरोध किया, क्या शिक्षक, मां या दोस्त से कहा।

हालांकि छात्रों को अपना नाम, स्कूल का पता, क्लास और उम्र भी बतानी होगी लेकिन सी.बी.एस.ई. ने कहा है बोर्ड हरसंभव कोशिश करेगी कि छात्रों की जानकारी गोपनीय रखी जाय लेकिन अगर किसी छात्र के मामले में सीरियल मामला सामने आता है तो कानून के मुताबिक मदद की कोशिश की जाएगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You