BJP जैसी राष्ट्रीय पार्टी अपने गुंडे छोड़ रही है: प्रशांत भूषण

  • BJP जैसी राष्ट्रीय पार्टी अपने गुंडे छोड़ रही है: प्रशांत भूषण
You Are HereNational
Wednesday, January 08, 2014-3:52 PM
नई दिल्ली: कश्मीर पर अपने बयान के लिए विवादों में घिरे आप नेता प्रशांत भूषण ने अपनी पार्टी के कार्यालय पर हमले के लिए भाजपा और आरएसएस संबद्ध संगठनों पर दोष मढते हुए कहा कि वे ‘आप के उदय से बुरी तरह से बौखला गए हैं।’ उन्होंने कहा कि ये उनकी फासीवादी मानसिकता को दिखाता है। यह देखना दुर्भाग्यपूर्ण है कि भाजपा जैसी राष्ट्रीय पार्टी सभी तरह की हिंसा का सहारा ले रही है और अपने गुंडे छोड़ रही है।
 
उन्होंने आज यहां संवाददाताओं से कहा कि यह घटना, आप के जबरदस्त उदय से भाजपा, आरएसएस और इससे संबद्ध संगठनों की बौखलाहट को दिखाती है। वे सभी आप से भयभीत हैं और डरे हुए हैं कि लोकसभा चुनावों में उनकी संभावनाओं को यह नुकसान पहुंचाएगी।
 
कश्मीर में जनमत संग्रह संबंधी भूषण के बयान के खिलाफ दक्षिणपंथी गुटों के कार्यकर्ताओं ने उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के कौशांबी में आम आदमी पार्टी मुख्यालय पर हमला किया और तोडफ़ोड़ की। 
 
भूषण ने कहा कि यह घटना दिखाती है कि वे पाटियां कोई भी जरिया अपना सकती है। यहां तक कि वे तोडफ़ोड़ और आप नेताओं और समर्थकों से मारपीट कर सकती हैं।
 
भूषण ने हाल में कहा था कि घाटी में सुरक्षा चुनौतियों से निपटने के लिए सेना की नियुक्ति पर फैसले को लेकर एक जनमत संग्रह करवाया जाना चाहिए। हालांकि, आम आदमी पार्टी ने उनके इस बयान से दूरी बना ली।
 
कश्मीर पर अपने बयान से आप की दूरी बनाए जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘पार्टी के भीतर विचारों में भिन्नता हो सकती है। मैंने पहले ही साफ कर दिया है कि मेरा क्या मतलब था और पार्टी के बयान में बहुत ज्यादा अंतर नहीं है। न तो मैंने और न ही पार्टी ने कहा कि जनमत संग्रह कराए जाने के बाद कश्मीर को भारत से अलग कर दिया जाना चाहिए।’’  2011 में अपने पर हुए हमले के बारे में भूषण ने दिल्ली पुलिस के समक्ष एक शिकायत दर्ज करायी थी। उन्होंने कहा कि कोई कार्रवाई नहीं हुई।
 
 उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘दो साल पहले इन्हीं लोगों ने सुप्रीम कोर्ट के मेरे चैंबर में मुझ पर हमला किया था। उस समय का एक हमलावर इस बार भी मौजूद था। एक अन्य हमलावर एक बेबसाइट चलाता है और भाजपा के एक नेता इस बेबसाइट का प्रचार करते हैं।’’   उधर, कांग्रेस नेता कमलनाथ ने कहा, ‘मैं हिंसा की राजनीति की निंदा करता हूं।’

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You