‘हां मेरा हाथ पकड़ कर बाहर खींचा...पर मैं उन्हें माफ करती हूं’

  • ‘हां मेरा हाथ पकड़ कर बाहर खींचा...पर मैं उन्हें माफ करती हूं’
You Are HereNational
Wednesday, January 08, 2014-8:00 PM

बीकानेर: संभाग के श्रीगंगानगर जिले के रायसिंहनगर में नवनियुक्त जमींदारा पार्टी की विधायक का उन्ही की पार्टी के प्रदेश महासचिव के द्वारा जबरन हाथ पकडऩे का मामला बुधवार को सामने आया है।

 
उपजिला कलैक्टर कार्यालय में एसडीएम भगवती प्रसाद प्रजापत से किसी मुद्दे पर चर्चा कर रही विधायक सोनादेवी के साथ उन्हीं की पार्टी के प्रदेश महासचिव द्वारा हाथ पकडऩे के मामले से आमजन में चर्चा का विषय बना रहा। अधिकारियों की मौजूदगी में घटी घटना से स्वयं अधिकारी भी सकमें में आ गए। विधायक से र्दुव्यवहार करने पर एसडीएम व डीएसपी ने विधायक से मामले में तुरन्त कार्रवाई करवाने को कहा परन्तु विधायक ने कोई भी कार्यवाही करवाने से इंकार कर दिया। घटना को लेकर मिनी सचिवालय में लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई। 
 
जानकारी के अनुसार गणतंत्र दिवस समारोह को धूमधाम से मनाने को लेकर मिनी सचिवालय में सभी विभागों के अधिकारियों की बैठक के बाद विधायक सोनादेवी एसडीएम चेम्बर से किसी अन्य मुद्दे को लेकर वार्ता कर रही थी। उसी दौरान जमींदारा पार्टी के प्रदेश महासचिव राजेश सीकरवाल एक परिवादी को लेकर एसडीएम के चेम्बर में घुस गए। एसडीएम ने राजेश सीकरवाल को थोड़ी देर रुकने को कहा। परन्तु राजेश सीकरवाल ने पहले उनकी बात सुनने को कहा। इसी बात को लेकर एसडीएम व राजेश सीकरवाल में गर्मा-गर्मी हो गई। जब तक विधायक पूरे मामले को समझ पाती उससे पहले ही राजेश सीकरवाल ने विधायक का हाथ पकड़ कर चेम्बर से बाहर खींचने का प्रयास किया। जैसे तैसे मामला शांत हुआ। एसडीएम भगवतीप्रसाद प्रजापत ने विधायक से कार्रवाई करवाने को कहा लेकिन विधायक ने प्रदेश महासचिव को माफ करते हुए कार्रवाई करवाने से इंकार कर दिया। इनका कहना है रायसिंहनगर विधायक सोनादेवी ने कहा कि मुझे राजेश सीकरवाल के पूरे मामले की जानकारी नहीं थी। उन्होंने मेरा हाथ पकड़ कर बाहर खींचने की कोशिश की। मैने उन्हें माफ कर दिया है। मामला के बारे में बैठकर बात करेगें। 
 
प्रदेश महासचिव राजेश सीकरवाल ने कहा कि एसडीएम मेरे से व्यक्तिगत रंजिश रखते है। इसी को लेकर उन्होंने मुझे चेम्बर से बाहर निकलने को कहा। विधायक ने भी मेरी अनदेखी की। एसडीएम को हटवाने को लेकर मेरे द्वारा गुरुवार से मिनी सचिवालय के आगे धरना दिया जाएगा। पार्टी द्वारा सुनवाई नहीं करने पर मैं पार्टी से इस्तीफा दे दूंगा। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You