देश में बदलाव की बयार, लोगों में आई जागृति : विजय कुमार चोपड़ा

  • देश में बदलाव की बयार, लोगों में आई जागृति : विजय कुमार चोपड़ा
You Are HereNcr
Thursday, January 09, 2014-10:37 PM

नई दिल्ली (सुनील पाण्डेय): हिंद समाचार ग्रुप के चेयरमैन एवं पंजाब केसरी के प्रधान सम्पादक पदमश्री विजय कुमार चोपड़ा ने बुधवार को कहा कि देश में बदलाव की बयार है। वर्तमान में जो कुछ भी दिल्ली सहित देश में हो रहा है, वह इसी का नतीजा है। अन्ना आंदोलन एवं 16 दिसम्बर की घटना से देश की पूरी तस्वीर ही बदल गई। युवा पीढ़ी ने कमान संभाली और आम लोग जागृति हो उठे। इसके चलते लोगों में नई उम्मीदें जग गई।

श्री चोपड़ा वीरवार को नई दिल्ली के कांस्टीट्यूशन क्लब में आयोजित उन्नत भारत सेवाश्री अवार्ड समारोह को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री सुरजीत जियानी भी मौजूद रहे। समारोह में विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली हस्तियों को विशेष सम्मान से नवाजा गया।मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे श्री विजय कुमार चोपड़ा ने कहा कि देश की दोनों राजनीतिक पार्टियों (कांग्रेस-भाजपा) से लोग तंग आ चुके हैं। दोनों में कोई फर्क नहीं है। दोनों का प्रोग्राम एक जैसा है, इसलिए आम जनता परेशान है। लेकिन, वर्तमान में बदले राजनीतिक हालात से लोगों में फिर एक बार उम्मीदें जगी हैं। उन्होंने कहा कि खुशी है कि अन्ना हजारे जैसे आम लोगों ने क्रांति लाने में बड़ा योगदान दिया। इसी के चलते युवा सड़कों पर उतरे।

पुलिस की लाठी खाई, आंसू गैस और पानी की बौछारों की परवाह न किए बगैर युवाओं की टोली ने कमाल कर दिया। नये कानून (लोकपाल) बनवाने के लिए अड़े रहे। नतीजन, सिर्फ 1 महीने में ऐसा लगा जैसे सबकुछ बदल गया। श्री चोपड़ा के मुताबिक उन्हें भी बदलाव की उम्मीद जगी है। लिहाजा, देश की तरक्की के लिए राजनीतिक बदलाव भी जरूरी है। पदमश्री विजय कुमार चोपड़ा ने पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री सुरजीत जियानी के कार्यो की जमकर तारीफ की। साथ ही आग्रह भी किया कि वह आधे घंटे 1 सरकारी अस्पताल में चले जाएं तो 5 सरकारी अस्पताल अपने आप ठीक हो जाएंगे। पंजाब में सरकारी अस्पतालों के हालात बहुत अच्छे नहीं हैं, उसमें निगरानी की जरूरत है। उन्होंने कहा कि सुरजीत जियानी की सख्ती से पहले से काफी फर्क पड़ा है।

इस मौके पर स्वास्थ्य मंत्री सुरजीत जियानी ने कहा कि मशीनरी युग के चलते हर इंसान बीमारी से ग्रसित हो रहा है। देश में ऐसा कोई व्यक्ति नहीं है, जो यह कहे कि वह बीमार नहीं है। इसके लिए मशीनरी युग पूरी तरह से जिम्मेदार है। लोग भौतिकवादी चीजों के आदी होते जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि दवाई इलाज नहीं है, वह टेंपरेरी साधन है। एक रोग नार्मल होता है तो दूसरा उसके साथ शुरू हो जाता है।  कार्यक्रम का संचालन उन्नत संगठन, राष्ट्रीय पत्रकार संगठन एवं राष्ट्रीय किसान सभा के अध्यक्ष भारत प्रेम ने किया। इस मौके पर भारत पे्रम ने ऐलान किया कि अब वह संस्थान से एक रुपये लिए बिना देश सेवा करेंगे। लिहाजा, आज से उनका जीवन देश सेवा को समर्पित है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You