कांग्रेस ने सर्वे नतीजों व राहुल को आप की चुनौतियों को नहीं दी तवज्जो

  • कांग्रेस ने सर्वे नतीजों व राहुल को आप की चुनौतियों को नहीं दी तवज्जो
You Are HereNational
Thursday, January 09, 2014-5:56 PM

नई दिल्ली: कांग्रेस ने आज उस सर्वेक्षण के नतीजों को कोई तवज्जो नहीं दी जिसमें बड़े शहरों में प्रधानमंत्री की पसंद के रूप में नरेंद्र मोदी और अरविंद केजरीवाल के बाद राहुल गांधी को तीसरे स्थान पर रखते हुए आम आदमी पार्टी को सबसे ज्यादा फायदा मिलते दिखाया गया है। पार्टी का कहना है कि वह उपयुक्त समय पर अपनी रणनीति बताएगी। 

 
पार्टी ने आम आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्वास से कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को किसी प्रकार की चुनौती मिलने की संभावना से भी इंकार किया। कुमार विश्वास ने राहुल गांधी के खिलाफ ताल ठोकने की घोषणा की है। कांग्रेस ने कहा कि आप नेता का अमेठी में कोई अस्तित्व ही नहीं है जहां के मतदाताओं का नेहरू गांधी परिवार से भावनात्मक बंधन है। 
 
पार्टी महासचिव अंबिका सोनी ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘सर्वेक्षणों पर मैं कोई टिप्पणी नहीं करने जा रही जो चुनावों से पहले विभिन्न एजेंसियों द्वारा नियमित अंतराल पर किए जाते हैं ....उचित समय आयेगा तब कांग्रेस पार्टी अपनी रणनीति बता सकती है।’’
 
उम्मीदवारों के चयन के बारे में उन्होंने कहा, ‘‘पार्टी के कुछ पदाधिकारी यह सब तय कर रहे हैं। वे लोगों से मिल रहे हैं। राज्यों से मुख्यमंत्री, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष विधायक दल के नेता आ रहे हैं। संभावित उम्मीदवारों के नाम दिये जा रहे हैं और उनके बारे में सूचनाएं जुटाई जा रही हैं। 
 
उन्होंने कहा, ‘‘प्रयास यह है कि ऐसे लोगों को कांग्रेस का टिकट दिया जाए जो चुनाव जीत सकते हों और जिन्हें जमीनी स्तर पर समर्थन प्राप्त हो । राहुल गांधी ऐसे लोगों को आगे लाना चाहते हैं।
 
 केन्द्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद से जब इस सर्वेक्षण के नतीजों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने सिर्फ इतना कहा, ‘‘मुझे इस पर (सर्वे पर) विश्वास करने में कठिनाई हो रही है लेकिन मुझे बहुत खुशी है कि आप उस पर विश्वास करते हैं। 
 
राज्यसभा सदस्य एवं उत्तर प्रदेश विधायक दल के पूर्व नेता प्रमोद तिवारी ने अमेठी में कुमार विश्वास की उम्मीदवारी से राहुल गांधी को चुनौती के बारे में पूछे जाने पर कहा कि वह 1977 से अमेठी को जानते हैं जब संजय गांधी वहां से चुनाव लड़े थे। 
 
तिवारी ने कहा, ‘‘मैं पूरे विश्वास, पूरे अधिकार के साथ यह कह सकता हूं कि कुमार विश्वास का अमेठी में कोई अस्तित्व ही नहीं है ...परिवार के सदस्यों संजय गांधी, सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने अमेठी की सेवा की है। पारिवारिक भावनात्मक बंधन है। वे परिवार का सम्मान करते हैं।’’
 
उन्होंने कहा, ‘‘विश्वास ने उस निर्वाचन क्षेत्र में क्या किया है और उनकी पहचान क्या है। वह महज एक कवि हैं।’’

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You