आप का असर: मोदी ने 60 युवा स्वयंसेवियों से बात की

You Are HereNational
Friday, January 10, 2014-2:18 PM

नई दिल्ली: सोशल मीडिया पर अभियान को गति देने और लोगों तक पहुंचने के प्रयास के तहत भाजपा के प्रधानमंत्री के पद उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने 60 स्वयंसेवियों से बातचीत की और उनसे कहा कि इस चुनाव को ‘जिंदगी और मौत’ के तौर पर नहीं लें, बल्कि लोगों से ‘सकारात्मकता के संदेश’ के साथ जुड़ें। भाजपा ने कहा कि इन स्वयंसेवियों को उन दो लाख लोगों में से चुना गया था जिन्होंने खुद को ‘मिशन 272 प्लस’ अभियान से जोड़ा था। इस अभियान की शुरूआत भाजपा ने पिछले साल अगस्त में की थी। दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने स्वयंसेवियों का प्रभावी ढंग से इस्तेमाल किया था और अब दूसरे दल भी इस रणनीति को अपना रहे हैं।

भाजपा नेता पीयूष गोयल ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘वे पार्टी के कार्यकर्ता नहीं हैं। वे स्वतंत्र लोग हैं जो मोदी को प्रधानमंत्री बनाने के लिए काम करना चाहते हैं। वे ऑनलाइन अथवा ऑफलाइन काम कर सकते हैं।’’  गोयल के अनुसार मोदी ने स्वयंसेवियों से कहा कि वे इस चुनाव को ‘जिंदगी और मौत’ के तौर पर नहीं लें क्योंकि चुनाव आते-जाते हैं लेकिन राष्ट्र बना रहता है। उन्होंने कहा कि मोदी ने स्वयंसेवियों से कहा कि वे देश के लिए काम करें तथा लोगों को इसके बारे में गौरवान्वित महसूस कराएं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You