स्टिंग कराने में माहिर है दलीप कुमार

  • स्टिंग कराने में माहिर है दलीप कुमार
You Are HereNational
Friday, January 10, 2014-2:15 PM

नई दिल्ली (सतेन्द्र त्रिपाठी): दिल्ली पुलिस के स्पेशल कमिश्नर पद से सेवानिवृत्त सीनियर आईपीएस अधिकारी डॉ.एन.दलीप कुमार मोबाइल फोन से स्टिंग कराने में माहिर माने जाते है। दिल्ली सरकार की भ्रष्टाचार निरोधक शाखा में अतिरिक्त आयुक्त के पद पर रहते हुए उन्हेंने मोबाइल से 50 से अधिक स्टिंग ऑपरेशन आम नागरिकों से ही कराए थे।

इन मामलों में सौ से अधिक सरकारी अधिकारी व कर्मचारियों को जेल भी भेजा गया था। स्टिंग में उन्होंने रिश्वतखोरों को पूरी-पूरी चेन का भंडाफोड़ किया था। दिल्ली की नई सरकार द्वारा चलाई गई एंटी करप्शन हेल्पलाइन के प्रमुख बनाए गए डॉ.एन.दलीप कुमार की ईमानदार-मेहनती छवि भ्रष्टाचार के खिलाफ एक बड़ा अभियान खड़ा कर सकती है।

डॉ.कुमार ने अपनी स्टिंग की इस कला को दिल्ली पुलिस की सतर्कता शाखा में संयुक्त आयुक्त रहते हुए भी इस्तेमाल किया था। इस दौरान उन्होंने रोहिणी में पार्किंग माफिया, नरेला में मिट्टी माफिया, सीलमपुर में ट्रैफिक सर्कल में पुलिस की रिश्वतखोरी जैसे कई बड़े मामलों का खुलासा किया था। इन मामलों में एफआईआर भी दर्ज हुई। दर्जन से अधिक पुलिसवालों पर गाज भी गिरी थी। उनके नेतृत्व में ही सतर्कता शाखा को और अधिकार मिले थे।

मोबाइल से स्टिंग करने वाले कई आम नागरिकों पर उन्होंने एक किताब भी लिखी है। ‘बकासुर द् जम्बो क्रिमीनल’  नाम की इस किताब का विमोचन दिल्ली चुनाव से बहुत पहले आप पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने किया था। अरविंद से किताब का विमोचन कराने पर उस वक्त दिल्ली पुलिस में बड़ी चर्चा हुई थी कि तमाम बड़े नामों को एक तरफ छोड़कर अरविंद को क्यों चुना। एनडीएमसी में व्याप्त भ्रष्टाचार का स्टिंग उन्होंने एक फूल विक्रेता शिव कुमार तिवारी से कराया था। इसमें एनडीएमसी व पुलिस के एक दर्जन से अधिक कर्मचारियों के रिश्वत के खेल का खुलासा हुआ था।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You