देवयानी मामलाः भारत ने अमेरिकी राजनयिक को देश छोडने को कहा

  • देवयानी मामलाः भारत ने अमेरिकी राजनयिक को देश छोडने को कहा
You Are HereNational
Saturday, January 11, 2014-1:25 AM

नई दिल्लीः भारत ने अमेरिका द्वारा राजनयिक देवयानी खोबरगडे को देश छोडने को कहने पर जवाबी कार्रवाई करते हुए यहा अमेरिकी दूतावास में पदस्थ एक राजनयिक को आज बाहर जाने को कह दिया।

आधिकारिक सूत्रों ने आज यहां बताया कि जिस अमेरिकी राजनयिक को देश से बाहर जाने को कहा गया है, वह सुश्री देवयानी खोबरगडे के समकक्ष है और वह सुश्री खोबरगडे मामले से निकटता से जुडा रहा है।  सूत्रों ने कहा, हमने आज शाम अमेरिकी मिशन को बुलाकर उन्हें इस अधिकारी को वापस भेजने को कह दिया है। 

हमारे पास ये मानने के पर्याप्त कारण हैं कि अमेरिकी दूतावास में तैनात यह अधिकारी खोबरगडे मामले से जुडी प्रक्रिया और अमेरिकी द्वारा की गई एकतरफा कार्रवाई से निकटता से जुडा था। हालांकि उन्होंने उस राजनयिक की पहचान और उसे भारत छोडने की समय सीमा के बारे में खुलासा करने से इंकार कर दिया। अलबत्ता उन्होंने बताया कि इस तरह के मामलों में सामान्यतः 48 घंटे की मीयाद दी जाती है लेकिन इस मामले की मीयाद कुछ ज्यादा है।

भारत के इस कदम से दोनो देशों के संबंधों पर विपरीत असर पडने से जुडे एक सवाल पर सूत्रों ने कहा कि हमारे द्विपक्षीय संबंध सिर्फ एक मुद्दे पर केन्द्रित नहीं है। इससे पहले 1981 में भारत और अमेरिका की तरफ से राजनयिको को वापस भेजने की कार्रवाई हुई थी। अमेरिका ने भारतीय राजनयिक प्रभाकर मेनन और भारत ने अमेरिकी राजनयिक जार्ज सी बी ग्रिफिन्स को वापस भेजा था।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You