'RSS पर दिग्विजय का बयान उनका मानसिक दिवालियापन'

  • 'RSS पर दिग्विजय का बयान उनका मानसिक दिवालियापन'
You Are HereNational
Sunday, January 12, 2014-11:24 AM

भोपाल: मध्यप्रदेश के गृह एवं जेल मंत्री बाबूलाल गौर ने कांग्रेस महासचिव एवं प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के उस बयान को उनका मानसिक दिवालियापन बताया है, जिसमें उन्होंने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की तुलना दस सिर वाले रावण से की थी। गौर ने कल यहां कहा कि यह बयान सिंह का ‘मानसिक दिवालियापन’ दर्शाता है, क्योंकि आरएसएस वही संगठन है, जिसकी सेवाओं से चीन युद्ध के समय प्रभावित होकर तत्कालीन प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरु ने 1963 में दिल्ली की गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होने का निमंत्रण दिया था और उसके तीन हजार स्वयंसेवकों ने गणतंत्र दिवस परेड में हिस्सेदारी की थी।

 

उन्होंने दावा किया, ‘‘उल-जलूल बयान देना कांग्रेस महासचिव का पुराना शगल रहा है। उनकी सलाह है कि वह पहले अपना संगठन देखें, जो पूरी तरह ध्वस्त होने की कगार पर है। वह दिन-रात आरएसएस को कोसने की बजाए अपना घर संभालें और विवेक बनाए रखें, क्योंकि चार राज्यों के विधानसभा चुनाव में उसकी लुटिया डूब चुकी है और रही-सही आने वाले लोकसभा चुनाव में डूब जाएगी।’’ गौर ने कहा कि सिंह का बयान कांग्रेस के मानसिक एवं नैतिक दिवालियापन का प्रतीक है, जबकि आरएसएस इस देश का वैचारिक एवं दार्शनिक सच है।

 

सिंह ने आरएसएस की तुलना दस सिरों वाले रावण से कर देश के उन करोड़ों लोगों का अपमान किया है, जो यहां की सनातन संस्कृति में राष्ट्र भक्ति और राम भक्ति के माध्यम से अपनी वैचारिक आस्था रखते हैं। इन सबकी भावनाएं आहत करने के लिए सिंह को माफी मांगना चाहिए।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You