नाबालिग गैंगरेप: दो आरोपियों को दस-दस साल की कैद

  • नाबालिग गैंगरेप: दो आरोपियों को दस-दस साल की कैद
You Are HereNational
Sunday, January 12, 2014-1:01 PM

नई दिल्ली: दिल्ली की एक अदालत ने 2003 में 16 साल की लड़की को नौकरी दिलाने का झांसा देकर उससे सामूहिक बलात्कार के जुर्म में दो व्यक्तियों को दस दस साल की कैद की सजा सुनाई है। इन व्यक्तियों में एक वरिष्ठ नागरिक भी शामिल है। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश एम सी गुप्ता ने 65 वर्षीय रण सिंह और 44 वर्षीय श्रीभगवान को सामूहिक बलात्कार और डराने धमकाने का दोषी ठहराते हुए दस-दस साल की कैद की सजा सुनायी। अदालत ने इसके अलावा दोनों मुजरिमों पर तीस-तीस हजार रूपए का जुर्माना भी किया है।

 

दोनों मुजरिमों को अदालत ने जेल भेज दिया है। न्यायाधीश ने कहा, ‘‘मेरी सुविचारित राय है कि रण सिंह और श्रीभगवान को दस दस साल की बामशक्कत कैद की सजा देने से न्याय होगा।’’ पुलिस के अनुसार दिसंबर, 2003 में लड़की की शिकायत के आधार पर मामला दर्ज किया था। इस लड़की ने आरोप लगाया था कि सिंह और भगवान ने उसे नौकरी दिलाने का झांसा देकर एक फार्म हाउस में उससे सामूहिक बलात्कार किया।

 

इस लड़की की शिकायत के अनुसार गार्ड के रूप में काम करने वाला सिंह उसकी मां को जानता था और उसने उसे नौकरी दिलाने का भरोसा दिलाया था। पुलिस के अनुसार 6 दिसंबर, 2003 को भगवान के साथ सिंह उसके घर आया और कहा कि नौकरी के सिलसिले में उसे उसके साथ आना होगा। अगले दिन वे दोनों एक कार में आए और उसे एक फार्म हाउस में ले गए।

 

पुलिस का कहना था कि फार्महाउस में सिंह और भगवान ने लड़की से बलात्कार किया ओर फिर उसे धमकी दी कि यदि उसने किसी को इसकी जानकारी दी तो उसे जान से मार दिया जायेगा। इसके बाद उन्होंने उसे घर छोड़ दिया। घर पर मां ने जब काम के बारे में पूछा तो लड़की ने सारी घटना बयां कर दी। इसके बाद मां ने पुलिस को सूचित किया और मामला दर्ज किया गया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You