बिना कामकाज के प्रचार पाना 'चुहलबाजी' होता है: जेटली

  • बिना कामकाज के प्रचार पाना 'चुहलबाजी' होता है: जेटली
You Are HereNational
Sunday, January 12, 2014-6:02 PM

नई दिल्लीः भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता अरूण जेटली ने अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी (आप) पर हमला जारी रखते हुए कहा है कि बिना काम काज के प्रचार 'चुहलबाजी' होती है और यह ज्यादा दिन नहीं चलती। श्री जेटली ने अपने लेख में आज लिखा है कि कांग्रेस के समर्थन से दिल्ली में बनी आप पार्टी की सरकार के पास लोगों के विश्वास पर खरा उतरने का ऐतिहासिक मौका है।

उन्होंने कहा है कि मतदाता अपनी पसंद के मामले में काफी निर्मम होते हैं और यही लोकतंत्र की ताकत होती है। वे सरकार के पक्ष में मतदान करते हैं और यदि वह कसौटी पर खरी नहीं उतरती है तो उसके प्रति गुस्से का इजहार भी करते हैं। उन्होंने कहा कि आप सरकार की काम करने की शैली से असमंजस की स्थिति बन गई है। वह अपने कामकाज की गैर परंपरागत शैली को स्वतंत्र है  पर यह सुशासन का विकल्प नहीं हो सकती।

उन्होंने कहा कि कामकाज में नीति बनाना और उसे लागू करना दोनों शामिल है। उन्होंने कहा कि सरकार की नीतियां ठोस और निर्धारित सिद्धांतों पर आधारित होनी चाहिए तथा इन्हें ईमानदारी से पारदर्शिता से अमल मेंलाया जाना चाहिए। श्री जेटली ने लिखा है कि अच्छे शासन के लिए सकारात्मक प्रचार पाना चतुर राजनीति का हिस्सा हो सकता है लेकिन बिना कामकाज के प्रचार चुहलबाजी है। उन्होंने कहा कि आप सरकार के सामने दो चुनौतियां हैं। एक वंचित दिल्ली है, जहां बुनियादी सुविधाएं भी नहीं हैं, जबकि एक दूसरी दिल्ली है, जो वैश्विक शहर बनना चाहती है दिल्ली सरकार को दोनों चुनौतियों से निपटना होगा।

उन्होंने कहा है कि बिना ठोस कामकाज के शासन की शैली के आधार पर प्रचार केवल 'चुहलबाजी' होती है। यह ज्यादा दिन नहीं चलती जबकि जिम्मेदार सरकार लंबे समय तक चलती है। उन्होंने कहा कि 'चुहलबाजी' हास्य का सबब बनकर रह जाती है। उन्होंने कहा है कि आप सरकार अब अपनी ही शैली की शिकार बन रही है। जितनी जल्दी वह इस बात को समझ लेगी. उसके  पास अपनी गलती सुधारने का मौका होगा। हालांकि अभी तक वह इसमें विफल रही है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You