कांग्रेस नामक बीमारी से देश को मुक्त करना हैः मोदी

  • कांग्रेस नामक बीमारी से देश को मुक्त करना हैः मोदी
You Are HereNational
Sunday, January 12, 2014-9:15 PM

पणजी: कांग्रेस पर वोट बैंक की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए प्रधानमंत्री पद के भाजपा के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे द्वारा राज्य सरकारों से अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्यों के खिलाफ आतंकवाद के मामलों की समीक्षा करने के लिए कहने पर आज उन्हें आड़े हाथों लिया।

मोदी ने यहां एक रैली को संबोधित करते हुए कहा, उनकी हिम्मत तो देखिए, वे सांप्रदायिक राजनीति कर रहे हैं। गृह मंत्री ने राज्य सरकारों को पत्र लिखा है कि अगर आप किसी कानून तोडऩे वाले को पकड़ते हैं तो देखिए कि मुस्लिमों को गिरफ्तार नहीं किया जाए। ऐसा क्यों? क्या किसी कानून तोडऩे वाले का कोई धर्म होता है।

उन्होंने कहा, क्या धर्म से कानून तोडऩे वाले का फैसला किया जाएगा कि उसे गिरफ्तार किया जाए या छोड़ दिया जाए? धर्म के आधार पर कोई भेदभाव नहीं होना चाहिए। किसी को किसी धर्म विशेष का होने पर सजा नहीं दी जानी चाहिए बल्कि यह सभी पर लागू होना चाहिए। वोट बैंक की राजनीति नहीं होनी चाहिए। मोदी ने कहा कि जब प्रधानमंत्री से इस तरह के पत्रों के बारे में पूछा जाता है तो वह उन पर आश्चर्य जताते हैं और कहते हैं कि वह मामले को देखेंगे। यह दिखाता है कि वह किस तरह प्रतिक्रिया व्यक्त करते हैं।

भाजपा नेता ने पर्यावरण मंत्री के पद से जयंती नटराजन के हटने का परोक्ष रूप से उल्लेख करते हुए कहा कि पहली बार उन्होंने ‘जयंती टैक्स’ के बारे में सुना। वह जयंती नटराज के कार्यकाल के दौरान लगे आरोपों का जिक्र कर रहे थे। उन्होंने कहा, पर्यावरण मंत्रालय को लेकर तूफान मचा और सभी फाइलें रोक दी गयीं। बिना पैसे के कोई फाइल नहीं बढ़ रही। हमने आयकर, बिक्री कर और आबकारी शुल्क के बारे में सुना है लेकिन हमने पहली बार दिल्ली में जयंती टैक्स के बारे में सुना जिसके बिना कुछ आगे नहीं बढ़ता।

मोदी ने कहा, जब तक भुगतान नहीं किया जाता, पर्यावरण मंत्रालय में फाइल आगे नहीं बढ़ सकती। मुझे इस तरह का अनुभव कभी नहीं हुआ क्योंकि मुझे इसकी जरूरत नहीं पड़ी लेकिन हम इस पर हैरान हैं। उन्होंने किस तरह की व्यवस्था विकसित की है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You