'आप' को समर्थन देती रहूंगी: मेधा पाटकर

  • 'आप' को समर्थन देती रहूंगी: मेधा पाटकर
You Are HereNational
Monday, January 13, 2014-4:32 PM

मुंबई: समाज सेविका और नर्मदा बचाव आंदोलन की नेता मेधा पाटकर ने कहा कि वह आम आदमी पार्टी.. आप.. का समर्थन करने का घोषणा करती हैं।  सुश्री मेधा पाटकर ने आज यहां संवाददाताओं से बात करते हुए कहा कि जन आंदोलनों के कारण आज एक बार फिर आॢथक और सामाजिक परिप्रेक्ष्य में एक एक बडा बदलाव देखने को मिल रहा है और इसी तरह के एक जन आंदोलन से राजनीति में आयी आप पार्टी की दिल्ली में कार्य शैली और सादगी को देखते हुए हमने समर्थन देने की घोषणा की है। 

उन्होंने एक प्रश्न के जवाब में कहा कि किसी सत्ता की लालच से आप पार्टी को सहयोग नहीं कर रही हैं।  जो नीति आप पार्टी के नेताओं ने अपनायी है वह सीधे आम लोगों से जुडती है और उनकी समस्याओं की जड तक पहुंचती है इसलिए हम उनके कार्यों को और आगे बढाने के लिए समर्थन दे रहे हैं। 

उन्होंने कहा कि लोक नायक जय प्रकाश जी ने भी जन आंदोलन छेडा था और बाद में राजनीतिक पार्टी बनायी जिसका जनता भरपूर समर्थन दिया था। पूर्व प्रधान मंत्री वी पी सिंह ने भी जन आंदोलन छेडा जनता ने उन्हें भी अपना समर्थन दिया और आज जनता आप पार्टी को समर्थन देना चाह रही है।

मेधा पाटकर ने बडे ही तल्ख लफ्जों में कहा कि महाराष्ट्र में आदर्श इमारत तथा ल्वासा शहर के नाम पर राजनीतिज्ञों ने भ्रष्टाचार कर अपनी ही जेबें भरने में लगे रहे। इसके अलावा राष्ट्रमंडल खेलों में तो भ्रष्टाचार की सभी हदें पार कर दी गयी । भ्रष्टाचार के यह तो सिर्फ कुछ नमूने भर हैं।  उन्होंने कहा कि राजनेता सत्ता के मद में इतने चूर हैं कि वह जनता की बात सुनना ही नहीं चाहते। लेकिन जब से दिल्ली में आप पार्टी आयी है राष्ट्रीय पाॢटयां सोचने पर मजबूर हो गयी हैं।

केजरीवाल ने शुरू में ही जिस तरह का कार्य कर दिखाया उसे देखते हुए अन्य सभी दल सतर्क हो गये हैं। उन्होंने कहा कि आप पार्टी के नेताओं और जन आंदोलनों से जुडे हुए लोगों के बीचकुछ दिन से बात चीत चल रही थी और बातचीत के बाद हम इस नतीजे पर पहुंचे कि राजनीतिक. आॢथक और सामाजिक बदलाव अगर लाना है तो आप का समर्थन आवश्यक है।   

हालांकि उन्होंने यह भी स्वीकार किया कि जन आंदोलन जारी रहने चाहिए।   उन्होंने कहा कि दिल्ली के चुनाव में आप ने यह सिद्ध कर दिया कि बिना किसी ताम झाम के भी चुनाव जीता जा सकता है और यही सादगी लोगों को पसंद आ गयी।   उन्होंने कहा कि 16-17 अक्तूबर को दिल्ली में एक बैठक होगी जिसमें आप के लोग भी शामिल होंगे और उस बैठक के बाद ही आगे की रणनीति तय होगी। उन्होंने कहा कि पार्टी से जुडने के बाद जो कार्य उन्हें दिया जायेगा उसकी जिम्मेदारी वहलेंगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You