अल्पसंख्यकों के लिए आरक्षण पर विचार: मंत्री

  • अल्पसंख्यकों के लिए आरक्षण पर विचार: मंत्री
You Are HereNational
Monday, January 13, 2014-5:18 PM

नई दिल्ली: अल्पसंख्यक मामलों के केंद्रीय मंत्री के. रहमान खान ने सोमवार को कहा कि सरकार रंगनाथ मिश्रा आयोग की सिफारिशों के अनुसार अल्पसंख्यकों को आरक्षण दिए जाने के मुद्दे पर विचार कर रही है। राज्य अल्पसंख्यक आयोगों के सालाना सम्मेलन को संबोधित करते हुए खान ने कहा, ‘‘मंत्रालय धार्मिक और भाषाई अल्पसंख्यकों के बीच सामाजिक और आर्थिक रूप से पिछड़े वर्गों की पहचान और कल्याणकारी कदमों की सिफारिश करने के लिए न्यायमूर्ति रंगनाथ मिश्रा आयोग की सिफारिशों पर विचार कर रही है।’’

राष्ट्रीय धार्मिक और भाषाई अल्पसंख्यक आयोग ने सिफारिश दी है कि अन्य पिछड़े वर्गों को 27 फीसदी आरक्षण न देकर 15 फीसदी आरक्षण मुस्लिमों और ईसाइयों को और 12 फीसदी अन्य पिछड़े वर्गों को दी जानी चाहिए। देश के पूर्व प्रधान न्यायाधीश रंगनाथ मिश्रा इस आयोग के अध्यक्ष हैं। खान ने यह भी कहा कि जल्द ही जैन समुदाय को अल्पसंख्यकों की सूची में शामिल किया जाएगा।

उन्होंने कहा, ‘‘सरकार जैन समुदाय को अल्पसंख्यक समुदाय में शामिल करने पर गंभीरता से विचार कर रही है ताकि केंद्र सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ जैन समुदाय को भी मिल सके।’’ अभी राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग अधिनियम 1992 के तहत मुस्लिम, सिख, ईसाई, बौद्ध और पारसी अल्पसंख्यक समुदाय के रूप में सूचीबद्ध हैं।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You