भारत-पाक के वाणिज्य मंत्रियों की बैठक 18 जनवरी को

  • भारत-पाक के वाणिज्य मंत्रियों की बैठक 18 जनवरी को
You Are HereNational
Monday, January 13, 2014-10:42 PM

नई दिल्ली: भारत व पाकिस्तान के वाणिज्य मंत्रियों की बैठक यहां 18 जनवरी को होनी है जिसमें भारत को सर्वाधिक तरजीही देश (एमएफएन) का दर्जा देने तथा पेट्रो उत्पादों में व्यापार जैसे मुद्दों पर चर्चा हो सकती है। हालांकि भारत सरकार ने यहां स्पष्ट किया है कि इस बैठक को बातचीत प्रक्रिया बहाल होने के रूप में नहीं देखी जा सकती।

वाणिज्य मंत्री आनंद शर्मा तथा पाकिस्तान के वाणिज्य राज्यमंत्री खुर्रम दस्तगीर खान की इस प्रस्तावित बैठक से पहले एजेंडा तय करने के लिए 15 जनवरी को दोनों देशों के वाणिज्य सचिवों की बैठक हो सकती है। सूत्रों ने कहा की मंत्रियों की बैठक में गैर-व्यापार बाधाओं को समाप्त करना, भारत को एमएफएन, बिजली तथा पेट्रोलियम उत्पादों में व्यापार तथा बैंक शाखाएं खोलने जैसे मुद्दे उठ सकते हैं।

उल्लेखनीय है कि पिछले साल जनवरी में एक भारतीय सैनिक का सिर कलम किए जाने की घटना के बाद से ही दोनों देशों के बीच व्यापार उदारीकरण प्रक्रिया प्रभावित हुई है। इसके अलावा पाकिस्तान भारत को एमएफएन का दर्जा देने की समयसीमा में भी चूक गया। इस बीच विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा है, एक व्यापार संगोष्ठी के अवसर पर भारत के वाणिज्य मंत्री तथा पाकिस्तान के वाणिज्य राज्य मंत्री की बैठक होनी है। इसे भारत पाकिस्तान बातचीत प्रक्रिया की बहाली नहीं समझा जा सकता। खान यहां सार्क बिजनेस लीडर्स कनक्लेव में भाग लेने आ रहे हैं।

प्रवक्ता ने कहा हमारी समझ में पाकिस्तानी अधिकारी यह दिखाने के लिए काफी कदम उठाना चाहते हैं कि वे व्यापार प्रक्रिया को सामान्य बनाने के लिए वास्तव में गंभीर हैं। उन्होंने मंत्रियों की बैठक से पहले सचिवों की बैठक का आग्रह किया था जिस पर सहमति दे दी गई है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You