'ध्यान रखूंगा कि मेरे काफिले से किसी को असुविधा नहीं हो'

  • 'ध्यान रखूंगा कि मेरे काफिले से किसी को असुविधा नहीं हो'
You Are HereNational
Monday, January 13, 2014-11:04 PM

नई दिल्ली: सेना प्रमुख जनरल बिक्रम सिंह ने आज कहा कि वह यह सुनिश्चित करेंगे कि जब उनका काफिला जा रहा हो तो किसी को असुविधा नहीं हो। उनका यह बयान केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश की इस मामले में नाराजगी के बाद आया है। जनरल सिंह ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘जहां तक यातायात व्यवस्था और नियमों का सम्मान नहीं करने की बात है तो मैंने बहुत साफ आदेश जारी किए हैं कि हमारी सैन्य पुलिस कहीं भी नहीं होनी चाहिए।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मैं देश के कानून का सम्मान करता हूं और किसी भी मंत्री के ओहदे का आदर करता हूं। लोकतंत्र में यह होना चाहिए। मैं अपनी जगह जानता हूं, इसलिए मैं सुनिश्चित करंगा कि जब मेरा काफिला चले तो किसी को भी असुविधा नहीं हो।’’ कुछ दिन पहले केंद्रीय मंत्री रमेश को सेना प्रमुख के काफिले के गुजरने के मद्देनजर सैन्य पुलिस द्वारा यातायात को रोके जाने के कारण जाम में फंसना पड़ा था।

नाराज हो गए रमेश ने तब रक्षा मंत्री ए के एंटनी को पत्र लिखकर विरोध दर्ज कराया था। बाद में सेना प्रमुख ने रमेश से बात कर अफसोस भी जताया। जनरल सिंह ने कहा, ‘‘मैंने एक सैनिक के तौर पर उनसे बात की, मैंने उन्हें हुई असुविधा के लिए खेद जताया।’’ सेना प्रमुख ने कहा कि पुलिस व्यवस्था राज्य का विषय है और स्थानीय पुलिस को यातायात नियंत्रण करना चाहिए।

‘लाल बत्ती’ की संस्कृति पर रमेश के बयान का उल्लेख करते हुए सेना प्रमुख ने कहा कि उन्हें ‘जेड प्लस’ श्रेणी की सुरक्षा प्राप्त है इसलिए उनके काफिले में वाहनों की एक निश्चित तादाद होती है। उन्होंने कहा, ‘‘हम लोकतंत्र में रहते हैं और मैं लोकतांत्रिक नियमों का सम्मान करता हूं। सड़क पर चलने के तौर-तरीकों का पालन होना चाहिए। हमें अपने देशवासियों की संवेदनशीलताओं का सम्मान करना चाहिए।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You