मेरी बेटी दिलाओ, हाई कोर्ट के समक्ष पिता ने लगाई गुहार

  • मेरी बेटी दिलाओ, हाई कोर्ट के समक्ष पिता ने लगाई गुहार
You Are HereNational
Wednesday, January 15, 2014-12:20 AM

नई दिल्ली: 2 महीने से गायब बेटी को खोजने के लिए एक पिता थाने व पुलिस अधिकारियों के  यहां चक्कर काट-काट कर थक गया है। परंतु उसके दर्द को सुनने वाला कोई नहीं है। अब इस 58 वर्षीय बुजुर्ग ने दिल्ली उच्च न्यायालय के समक्ष एक याचिका दायर कर कहा है कि उसे उसकी बेटी दिलाई जाए। उसने मांग की है कि पुलिस को निर्देश दिया जाए कि उसकी बेटी के अपहरण का मामला दर्ज कर उसे खोजा जाए।

न्यायमूॢत कैलाश गंभीर व न्यायमूॢत सुनीता गुप्ता की खंडपीठ ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। अब इस मामले में 27 जनवरी को सुनवाई होगी।मंगोलपुरी निवासी इस बुजुर्ग ने अपने अधिवक्ता राकेश वालिया व बबीता शर्मा के माध्यम से उच्च न्यायालय मेंं निहाल विहार थानाध्यक्ष, दिल्ली पुलिस आयुक्त व कुछ अन्य लोगों के खिलाफ एक याचिका दायर की है। बुजुर्ग का कहना है कि 26 नवम्बर 2013 को वह अपने किसी रिश्तेदार की मौत पर गांव में गया था।

रात में वह वापिस लौटा तो उसकी बड़ी बेटी गायब थी। घर का सारा सामान बिखरा हुआ था। उसके घर से 3 लाख रुपए भी गायब थे। उसने शिकायत की तो पुलिस ने गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कर ली, हालांकि उसको शक है कि उसकी बेटी का अपहरण हुआ है। कुछ दिनों बाद उसे पता चला कि पड़ोस में रहने वाला एक युवक के साथ उसकी बेटी को आखिरी बार देखा गया था और उस दिन से वह युवक भी गायब है। परंतु पुलिस मामला दर्ज कर उसकी बेटी को खोजने का प्रयास नहीं कर रही है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You