भाजपा का 25 साल पुराना गढ़ ढहाने की जुगत में आप

  • भाजपा का 25 साल पुराना गढ़ ढहाने की जुगत में आप
You Are HereNational
Wednesday, January 15, 2014-3:59 PM

इंदौर: मध्यप्रदेश में भाजपा के सबसे मजबूत गढ़ों में शामिल इंदौर लोकसभा सीट पर कब्जे की चुनावी दौड़ में शामिल होने के लिए आम आदमी पार्टी (आप) कमर कसती नजर आ रही है। आप के नेताओं का दावा है कि देश में अहम सियासी बदलावों के मौजूदा दौर में इस सीट के चुनावी परिदृश्य में तीसरी शक्ति के उभरने की भरपूर संभावनाएं हैं।

आगामी लोकसभा चुनावों के लिये इंदौर क्षेत्र से आप के टिकट के दावेदारों में शामिल सामाजिक कार्यकर्ता अनिल त्रिवेदी ने आज ‘भाषा’ से कहा, ‘आगामी चुनावों के दौरान इंदौर लोकसभा क्षेत्र में तीसरी शक्ति के उदय की पूरी गुंजाइश है। मतदाता अब भाजपा और कांग्रेस से निराश हो चुके हैं और इन दलों का विकल्प ढूंढ रहे हैं।’ त्रिवेदी ने कहा, ‘वरिष्ठ भाजपा नेता सुमित्रा महाजन वर्ष 1989 से लेकर अब तक बतौर लोकसभा सांसद इंदौर क्षेत्र की नुमाइंदगी कर रही हैं। लेकिन लगातार सात बार सांसद रहने के बावजूद उनके खाते में कोई असाधारण उपलब्धि नहीं है।’

उन्होंने कहा, ‘पिछले 25 साल में इंदौर परेशानियों का शहर बन गया है। ऐसे में सुमित्रा वैसा नेतृत्व नहीं दे सकीं, जैसे नेतृत्व की इस शहर को जरूरत थी। यह कारक आगामी लोकसभा चुनावों में इंदौर क्षेत्र के मतदाताओं को परिवर्तन के बारे में सोचने पर बाध्य करेगा।’ त्रिवेदी ने कांग्रेस पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा, ‘इंदौर क्षेत्र में वर्ष 1989 के बाद से कांग्रेस भाजपा को चुनावी चुनौती नहीं दे सकी है। कांग्रेस ने इस क्षेत्र में पिछले सात लोकसभा चुनाव एक तरह से सांकेतिक तौर पर लड़े हैं।’

उधर, इंदौर से सात बार की लोकसभा सांसद सुमित्रा महाजन ने एक हालिया बयान में कहा कि आगामी लोकसभा चुनावों के मद्देनजर भाजपा किसी भी प्रतिस्पर्धी पार्टी को कम करके नहीं आंक रही है। ‘ताई’ के नाम से मशहूर 70 वर्षीय भाजपा नेता ने कहा, ‘राजनीतिक जीवन में हर छोटी से छोटी बात को चुनौती मानना पड़ता है। हम किसी भी पार्टी को कम करके नहीं आंक सकते। हमें सबका सामना तो करना ही पड़ेगा।’

इस बीच, प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने आगामी लोकसभा चुनावों के दौरान इंदौर क्षेत्र में आम आदमी पार्टी के तीसरे धु्रव के रूप में उभरने की संभावनाओं को सिरे से खारिज कर दिया। उन्होंने कहा, ‘आगामी लोकसभा चुनावों में हमारा सीधा मुकाबला भाजपा से ही होगा। इंदौर क्षेत्र में आम आदमी पार्टी की फिलहाल कोई पकड़ नहीं है।’ सलूजा ने इंदौर की मौजूदा सांसद सुमित्रा पर निष्क्रियता का आरोप लगाते हुए दावा किया कि आगामी लोकसभा चुनावों में कांग्रेस इस सीट से भाजपा का 25 साल पुराना कब्जा हटाने में कामयाब होगी।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You