'हिमाचल में HC के फरमान ने उड़ाई व्यापारियों की नीदें'

  • 'हिमाचल में HC के फरमान ने उड़ाई व्यापारियों की नीदें'
You Are HereNational
Wednesday, January 15, 2014-4:40 PM

हिमचाल: हिमचाल की सुंदरता कायम रहे इसलिए हिमाचल सरकार पॉलिथीन बैग तो पहले ही बंद कर चुकी है। इसके दूसरे चरण मैं अब 26 जनवरी से प्लास्टि पेकिंग मैं आने वाले हर उत्पाद जैसे चिप्स, दूध नमकीन, बिस्किट सभी बंद होने वाले है। जिस पर उच्च न्यायालय द्वारा भी आदेश सुनाया जा चुका है।

इस फरमान ने व्यापारियों की नीदें उड़ा दी है और जैसे-जैसे यह तारीख करीब आती जा रही है वैसे-वैसे व्यापरियों के माथे पर चिंता की लकीरे साफ़ देखी जा रही है। व्यापरियों को कम्पनियों ने माल देने से इंकार कर दिया है और यहां तक की कम्पनियों ने पेकिंग को बदलने के लिए सहमति नहीं दर्शायी है अगर सरकार अपने फैसले पर अडिग रहती है तो कई हिमाचल मैं कितने ही व्यापारी बरोजगारी की कगार पर पहुंच सकते है।

व्यापारियों ने इस बारे मैं चिंता व्यक्त करते हुए कहा की हिमाचल मैं करीब साठ हज़ार डेहली नीड्स की दुकानें है और 6 हज़ार थोक विक्रेता है और इन सभी के पास तीन से चार आदमी काम करते है और जो अपने परिवार का भरण पोषण करते है और अगर सरकार अपने फैसले पर अडिग रहेगी तो लगभग चौदह लाख लोग बेरोजग़ारी की कगार पर पहुंच जाएंगे।

उन्होंने कहा कि इस फरमान के चलते हिमाचल का पर्यटन व्यवसाय भी बूरी तरहसे प्रभावित होगा उनका कहना है कि अधिकांश व्यापारीयों ने अपना व्यापार बैंक से लोन लेकर शुरू किया है और अगर उनका व्यवसाय ही बंद हो जाएगा तो वह बैंक की अदायगी कहां से करेंगे उनके लिए यह सबसे बड़ी चिंता का विषय बना हुआ है। व्यापारियों ने सरकार को भी इस फैसले आड़े हाथों लेते हुए कहा कि एक तरफ सरकार जहां प्रदेश मैं रोजग़ार देने के लिए कई योजनाएं चला रही है वही सरकार के तुगलकी फरमान से लाखों लोग बेरोजग़ार होने वाले हैं।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You