बजट की कमी के कारण अधर में लटका मैट्रो का कियोस्क

  • बजट की कमी के कारण अधर में लटका मैट्रो का कियोस्क
You Are HereNational
Wednesday, January 15, 2014-5:05 PM

नई दिल्ली (राजेश रंजन सिंह) : मैट्रो से यात्रा करने वाले यात्रियों को फास्ट फूड और देशी खाद्य पदार्थ मैट्रो स्टेशनों पर उपलब्ध कराने की आई.आर.सी.टी.सी. और दिल्ली मैट्रो की योजना फिलहाल अधर में लटकी हुई है।

पिछले वर्ष ग्रीन लाइन पर लगाए गए कियोस्क भी खुलने का इंतजार कर रहे हैं। सूत्रों की मानें तो बजट की कमी के कारण विभाग द्वारा इसे ठंडे बस्ते में डाल दिया गया है।

आई.आर.सी.टी.सी. के फूड कियोस्क फांक रहे हैं धूल:
इंडियन रलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कोरपोरेशन लिमिटेड (आई.आर.सी.टी.सी.)ने रेलवे स्टेशनों की तर्ज पर दिल्ली मैट्रो के विभिन्न स्टेशनों पर फूड कियोस्क लगाने की योजना तैयार की थी। इस बाबत आई.आर.सी.टी.सी. और दिल्ली मैट्रो के बीच करार किया गया था।

शुरूआती चरणों में पश्चिमी दिल्ली से गुजरने वाली दिल्ली मैट्रो के ग्रीन लाइन पर पश्चिम विहार, पीरागढ़ी, उद्योग नगर और सूरजमल स्टेडियम स्टेशनों पर फूड कियोस्क लगाए गए। फूड कियोस्क लगाने के बाद भी योजना परवान नहीं चढ़ सकी है।

लिहाजा, वर्तमान में ये फूड कियोस्क मैट्रो यात्रियों को खाना परोसने के बजाय धूल विरान पड़े धूल फांक रहे हैं। उल्लेखनीय है कि योजनानुसार 130 मैट्रो स्टेशनों पर कियोस्क लगाने की योजना विभाग द्वारा बनाई गई थी।

क्या मिलता है फूड कियोस्क में :

मैट्रो स्टेशनों पर फूड कियोस्क में समोसा, सैंडविच, बर्गर, पिज्जा, आदि फास्ट फूड के अलावा छोले-चावल, कढ़ी-चावल, राजमा-चावल आदि खाद्य पदार्थों उपलब्ध कराने की बात कही गई थी। शुरूआती दिनों में विभाग द्वारा रोजाना 5000 यात्रियों को इससे जोडऩे का अनुमान लगाया गया था।

आई.आर.सी.टी.सी. के प्रवक्ता प्रदीप कुंडु का कहना है कि विभागीय कारणों से इसमें देरी हुई है, लेकिन जल्दी ही मैट्रो स्टेशनों पर लगाए गए फूड कियोस्कों को खोला जाएगा।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You