तिहाड़ में सुरक्षा बढ़ाने के लिए यासीन ने दायर की अर्जी

  • तिहाड़ में सुरक्षा बढ़ाने के लिए यासीन ने दायर की अर्जी
You Are HereNational
Wednesday, January 15, 2014-6:36 PM

नई दिल्ली : देश के विभिन्न भागों में हुए आतंकवादी हमलों में लिप्त होने के आरोप में तिहाड जेल में बंद इंडियन मुजाहिदीन के सह संस्थापक यासीन भटकल और उसके साथी ने आज विशेष एनआईए अदालत में अर्जी दायर कर कहा कि कड़ी सुरक्षा वाली इस जेल में उनकी जान को खतरा है।

जिला न्यायाधीश आई एस मेहता की अदालत में अर्जी दायर कर भटकल और असदुल्ला अख्तर ने दावा किया है कि तिहाड़ जेल के अधीक्षक ने उन्हें धमकी दी है कि वे मारे जाएंगे और जेल अधिकारी उनसे दुव्र्यवहार करते है ।वकील एम एस खान के जरिए दायर याचिका में कहा गया है, कि जेल अधीक्षक ने धमकी दी है कि वे (भटकल और अख्तर) जेल में ही मारे जाएंगे। उनके प्रति जेल अधिकारियों का रवैया अपमानजनक है और उनके साथ जानवरों से भी बुरा सलूक किया जाता है।

याचिका में यह भी दावा किया गया है कि ऐसी आशंका है कि आरोपियों के साथ किसी भी तरह की अप्रत्याशित घटना घट सकती है। याचिका में उन्होंने तिहाड़ जेल के महानिदेशक को यह निर्देश देने का आग्रह किया है कि जेल के अंदर उनकी समुचित सुरक्षा का इंतजाम किया जाए।
  
अदालत ने तिहाड़ जेल प्रशासन को इस मामले में रिपोर्ट पेश करने का निर्देश देते हुए मामले की अगली सुनवाई 17 जनवरी को निर्धारित की है। इस बीच कर्नाटक पुलिस ने 17 अप्रैल 2010 में चिन्नासामी स्टेडियम में आईपीएल मैच से पहले हुए विस्फोट के मामले में भटकल के कथित रूप से लिप्त होने के कारण उसकी हिरासत की मांग की है। अदालत ने इस मामले पर भी सुनवाई 17 जनवरी तक टाल दी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You