जांच कराएंगे, क्यों दिल्ली में इतने बलात्कार हो रहे हैं: केजरीवाल

  • जांच कराएंगे, क्यों दिल्ली में इतने बलात्कार हो रहे हैं: केजरीवाल
You Are HereNational
Thursday, January 16, 2014-10:12 AM

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली के बीचों बीच नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के समीप डेनमार्क की एक 51 वर्षीय महिला पर्यटक से करीब छह लोगों द्वारा बलात्कार किए जाने के मामले में दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। बताया जाता है कि इस महिला से चाकू की नोंक पर न केवल सामूहिक बलात्कार किया गया बल्कि उससे लूटपाट भी की गई। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि गिरफ्तार किए गए लोगों की पहचान उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले के निवासी महेन्द्र उर्फ गंजा (25) तथा दूसरे की राजा के रूप में की गई है।

 

पुलिस ने इनके कब्जे से एक आई पैड, ईयर प्लग, नोकिया मोबाइल (लूटे गए पैसे से खरीदा गया), महेन्द्र के कब्जे से 800 रूपये नकद , चश्मे का एक बॉक्स तथा राजा से एक हजार रूपये बरामद किए गए हैं। एक जनवरी को भारत आई यह महिला कल पहाडग़ंज स्थित अपने होटल का रास्ता भूल गयी जिसके बाद उसने रास्ता पूछने के लिए वहां खड़े कुछ लोगों से रास्ता पूछने की कोशिश की। पुलिस में अपना बयान दर्ज कराने के बाद यह महिला कल दोपहर बाद डेनमार्क के लिए रवाना हो गई।

 

उसने इस मामले में पुलिस के साथ जांच में पूरा सहयोग करने का वादा किया है। इसके साथ ही उसने किसी प्रकार की चिकित्सा परीक्षा से इनकार कर दिया। पुलिस ने इस मामले में कई लोगों को हिरासत में लिया है जिनमें सभी आवारा किस्म के लोग हैं। पुलिस में दर्ज कराए गए बयान के अनुसार, भारत आने के बाद यह महिला सबसे पहले आगरा गई थी जहां से उसने सोमवार को लौटने के बाद मध्य दिल्ली के सेंट्रल होटल में कमरा लिया था।

 

एक पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘‘ कल, वह कनाट प्लेस में एक संग्रहालय को देखनी गई थी। शाम को करीब चार बजे होटल लौटते समय , वह रास्ता भूल गई। वह रास्ता तलाशने का प्रयास कर ही रही थी कि कुछ लोग उसे कथित रूप से जबरन एक सुनसान जगह पर ले गए जहां पहले उन्होंने चाकू की नोंक पर उससे नकदी, आईपैड और अन्य कीमती सामान छीना और उसके बाद बारी-बारी से उसे अपनी हवस का शिकार बनाया।’’ घटना के बाद ये लोग वहां से भाग गए और वह किसी तरह करीब शाम सात बजे होटल पहुंची। पीड़िता ने पहले अपने साथ हुए इस हादसे की जानकारी होटल में कुछ साथी पर्यटकों को दी और उसके बाद प्रबंधक से संपर्क किया जिसने रात्रि करीब साढ़े आठ बजे पुलिस को फोन किया।

 

पुलिस ने इस संबंध में भारतीय दंड संहिता की धारा 376 जी (2) और डकैती का मामला दर्ज कर लिया है। इस संबंध में डेनमार्क के दूतावास को भी सूचित कर दिया गया है। पुलिस के समक्ष बयान दर्ज कराए जाने के बाद महिला को डेनमार्क दूतावास ले जाया गया। पीड़िता ने हालांकि चिकित्सा परीक्षण से इंकार कर दिया और अपने वतन लौटने की इच्छा जाहिर की। जांचकर्ताओं ने बताया, ‘‘ हालांकि पीड़िता ने यहां चिकित्सा जांच नहीं कराई लेकिन वह डेनमार्क में जांच कराकर उसकी रिपोर्ट हमें भेज सकती है। इस मामले में हमारे पास अन्य सबूत भी हैं और हमें पक्का विश्वास है कि हम जल्द ही मामले को सुलझाने में सफल होंगे।’

 

इस मामले के बाद दिल्ली सरकार की बढ़ती आलोचना के बीच, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उप राज्यपाल नजीब जंग से मुलाकात की और उनसे पुलिस को शहर में महिलाओं की सुरक्षा में सुधार का निर्देश दिए जाने की अपील की। केजरीवाल ने कहा, ‘‘ मैं उप राज्यपाल से मिला और उनके साथ इस मुद्दे पर चर्चा की। हम दोनों में इस बात पर सहमति थी कि हम पुलिस आयुक्त से कहेंगे कि वह बलात्कार के मामलों का विश्लेषण तैयार करें और यह भी पता लगाए कि क्यों दिल्ली में इतने बलात्कार हो रहे हैं।’’

 

उन्होंने बताया कि वह और जंग तथा पुलिस आयुक्त भारत के प्रधान न्यायाधीश से मुलाकात कर उनसे शहर में यौन हिंसा के मामलों को निपटाने के लिए अधिक संख्या में फास्ट ट्रैक अदालतों की स्थापना करने को कहेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘ हम देखेंगे कि त्वरित अदालतों का गठन कर कैसे हम मजबूत रोकथाम व्यवस्था बना सकते हैं।’’ केजरीवाल ने बताया कि बलात्कार के मामलों से निपटने में पुलिस से विशेष रूप से तीन पहलुओं की पड़ताल करने को कहा जाएगा जिनमें इलाका, अपराध का स्थान तथा उनमें शामिल लोग मुख्य हैं। इसके साथ ही इस पर रोक लगाने के सुझाव मांगे जाएंगे।

 

उन्होंने कहा, ‘‘ क्या यह कोई खास इलाके हैं? जगह हैं , व्यक्ति हैं या विशेष परिस्थितियां हैं? हम पुलिस से कहेंगे कि वे इनका अध्ययन करें और उसके अनुसार कदम उठाएं । यदि इस प्रकार की घटनाएं अंधेरे इलाकों में हो रही हैं तो वहां रौशनी की व्यवस्था की जा सकती है।’’ वरिष्ठ मंत्री मनीष सिसौदिया ने घटना को ‘‘खौफनाक’’ बताया। पिछले वर्ष महिलाओं के खिलाफ अपराधों में खतरनाक तरीके से इजाफा हुआ है और छेड़छाड़ तथा बलात्कार के क्रमश: 412 और 129 फीसदी वृद्धि हुई है। पुलिस के अनुसार , वर्ष 2012 में 680 के मुकाबले वर्ष 2013 में बलात्कार के 1559 मामले दर्ज किए गए जो 129.26 फीसदी की बढ़ोतरी है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You