Subscribe Now!

21वें अंतर्राष्ट्रीय ऊंट महोत्सव का शुभारम्भ

  • 21वें अंतर्राष्ट्रीय ऊंट महोत्सव का शुभारम्भ
You Are HereRajasthan
Thursday, January 16, 2014-12:49 PM

बीकानेर: 21वें अंतर्राष्ट्रीय ऊंट महोत्सव का विधिवत शुभारम्भ बुधवार को डा. करणी सिंह स्टेडियम में सांसद अर्जुन राम मेघवाल, बीकानेर पूर्व विधानसभा क्षेत्र विधायक सिद्घि कुमारी और जिला कलैक्टर आरती डोगरा सहित अन्य अधिकारियों ने सफेद कबूतर और गुब्बारे हवा में छोड़कर किया। ढोल-नगाड़ों की थाप और सैंकड़ों देशी-विदेशी पर्यटकों की मौजूदगी में अतिथियों ने जैसे ही समारोह शुरू हुआ, समूचा स्टेडियम तालियों की गडग़ड़ाहट से गूंज उठा।

3 दिन तक चलने वाले इस महोत्सव की शुरूआत शोभायात्रा से हुई। रतन बिहारी पार्क से रवाना होकर ऐतिहासिक शोभायात्रा जब डा. करणी सिंह स्टेडियम पहुंची तो मानो राजस्थान की संस्कृ ति स्टेडियम के प्रांगण में साकार हो उठी। मोटरसाइकिलों पर रौबीलों के साथ पारम्परिक राजस्थानी वेशभूषा में सजी-धजी विदेशी महिलाएं और श्रृंगारित ऊंटों पर बैठे रौबीले आकर्षण का प्रमुख केन्द्र थे।

राजस्थान के पारम्परिक और कालबेलिया नृत्य करते दल को देखकर देशी-विदेशी पर्यटक झूम उठे। सिर पर कलश रखकर महिलाएं जब समारोह स्थल से गुजरीं तो ऐसा लगा जैसे वे बीकानेर की धार्मिक और आध्यात्मिक पृष्ठभूमि को रेखांकित कर रही हों। राजस्थानी लोक वाद्य यंत्रों के साथ पंजाब और हिमाचल प्रदेश से आए लोक कलाकारों ने अपने-अपने प्रदेश की लोक कलाओं के रंग बिखेरे तो देशी और विदेशी पर्यटकों ने तालियां बजाकर उनका स्वागत किया।

एक ओर जहां शोभायात्रा में सजे-धजे ऊंट आकर्षण का केन्द्र थे तो वहीं इनकी बहुउपयोगिता भी प्रदर्शित की गई। सुदूर गांवों में रहने वाले लोगों के आवागमन के साधन के रूप में ऊंट गाडे के महत्व, खेती के दौरान हल जोतने और बोझा ढोने में ऊंट की उपयोगिता का जीवन्त चित्रण देखना विदेशी पर्यटकों के लिए अच्छा अनुभव रहा।

इस दौरान अतिरिक्त जिला कलैक्टर (प्रशासन) के.एम. दूडिय़ा, अतिरिक्त कलैक्टर (नगर) दुर्गेश कु मार बिस्सा, उपखण्ड अधिकारी अनुपमा जोरवाल, सहायक कलैक्टर डा. विक्रम जिन्दल, नगर परिषद के पूर्व सभापति अखिलेश प्रताप सिंह सहित अनेक जनप्रतिनिधि और अधिकारी मौजूद थे।
 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You