शोपियां गोलीबारी: जवाबी रिपोर्ट दायर करने के लिए CRPF को 3 दिन की मोहलत

  • शोपियां गोलीबारी: जवाबी रिपोर्ट दायर करने के लिए CRPF को 3 दिन की मोहलत
You Are HereNational
Thursday, January 16, 2014-2:32 PM

श्रीनगर: पिछले साल शोपियां में सीआरपीएफ की गोली का शिकार हुए चार युवकों की मृत्यु के सिलसिले में सीआरपीएफ को जवाबी रिपोर्ट दाखिल करने के लिए और तीन दिन की मोहलत मिल गई है। सीआरपीएफ को इस मामले में जांच के लिए जम्मू-कश्मीर सरकार द्वारा गठित न्यायिक आयोग के समक्ष जवाबी रिपोर्ट दाखिल करना है।

आयोग के अध्यक्ष न्यायाधीश (सेवानिवृत्त) एमएल कौल ने कल सीआरपीएफ का आग्रह स्वीकार कर लिया जिसमें इस मामले में जवाबी रिपोर्ट दाखिल करने के लिए सीआरपीएफ ने और समय की मांग की थी। आयोग इस पर अगली सुनवाई 18 जनवरी को करेगा। सात सितंबर 2013 को शोपियां जिले के गागरन में चार व्यक्तियों की हत्या कर गई थी और इसी दिन विश्व प्रसिद्ध ऑर्केस्ट्रा संचालक जुबिन मेहता ने यहां के प्रसिद्ध शालीमार बाग में प्रस्तुति दी थी।

सीआरपीएफ का दावा था कि मृतक उग्रवादी थे लेकिन स्थानीय लोगों द्वारा इसे चुनौती दिए जाने के बाद मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने न्यायिक जांच के आदेश दिए थे। पुलिस ने यह माना कि मारे गए तीन स्थानीय युवकों के उग्रवादी घटनाओं में लिप्त होने के कोई रिकॉर्ड उपलब्ध नहीं है। उन्होंने यह कहा कि चौथा युवक पाकिस्तान का एक उग्रवादी था। चारों युवकों की हत्या के संबंध में परिस्थितियों की जांच करने और युवकों के उग्रवाद में लिप्त होने की बात सुनिश्चित करने के लिए आयोग का गठन किया गया था। आयोग ने सीआरपीएफ कर्मियों द्वारा किसी भी तरह के अधिकारों के उल्लंघन पर जिम्मेदारी तय करने को कहा है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You