एडवेंचर टूरिज्म के नाम पर सम के धोरों पर पर्यटकों का जीवन खतरे में

  • एडवेंचर टूरिज्म के नाम पर सम के धोरों पर पर्यटकों का जीवन खतरे में
You Are HereNational
Thursday, January 16, 2014-5:26 PM

जैसलमेर: एडवेंचर टूरिज्म के नाम पर जैसलमेर जिले के विश्व विख्यात सम रेत के धोरे पर सरपट दौड़ रहे वाहन देशी विदेशी पयर्टकों के जीवन पर संकट बने हुए है। जिला कलक्टर एन एल मीना ने बताया कि सम के धोरों पर एडवेंचर टूरिज्म के नाम पर जीप सफारी होने की उनके पास ना तो कोई पुख्ता जानकारी है और ना ही कोई शिकायत। उन्होने कहा कि यदि सम के धोरो पर जीपे दौड़ रही है तो रोकथाम की कारवाई की जाएगी।
 
सम कैम्प एवं रिसोर्ट वेलफेयर सोसायटी के अध्यक्ष उपेंद्रसिंह ने कहा जीप सफारी के नाम पर धोरों पर दौड़ते अवैध वाहन सैलानियों के लिए परेशानी बने हुए हैं। वहीं आए दिन छोटे-मोटे हादसे भी होते रहते हैं। वाहन चालक एडवेंचर टूरिज्म के नाम पर सम के धोरों पर लापरवाही से वाहनों को दौडा रहे है जिससे पैदल चल रहे पर्यटकों और इन वाहनों के चालक और सवार का जीवन खतरे में है।

जैसलमेर पर्यटन व्यवसाय महांसघ के अध्यक्ष जीतेन्द्र सिंह राठौड़ ने कहा कि सम के धोरों पर किसी भी प्रकार का वाहन चलाना गैर कानूनी है ,बावजूद वाहन दौड़ाए जा रहे हैं। वाहनों के कारण धोरों का आकार बिगड़ रहा है और सम के विशाल रेतीले धोरों पर बैठ कर सुकून लेने वाले पर्यटक संभावित हादसे को लेकर भयभीत है।

वेलकम हेरिटेज के प्रतिनिधि शिवेंद्र सिंह ने बताया कि वाहन भीड़ भरे धोरों पर भी भगाते हैं जहां ट्यूरिस्ट कैमल सफारी का लुत्फ उठा रहे होते हैं। क्रिसमस व न्यू ईयर में सैलानियों ओ काफी परेशानी का सामना करना पड रहा है। कैमल सफारी करने वाले दीन मोहम्मद ने बताया कि पर्यटकों को दो हजार रुपए में जीप किराए पर मिलती है। जिसमें तीन या चार लोगों को एक साथ बिठाकर धोरों पर जीप दौड़ाई जाती है। पर्यटकों को सम के धोरो पर भ्रमण के लिए करीब चालीस से अधिक जीप लगी हुई हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You