आसाराम मामला: बचाव पक्ष ने संतों को बदनाम करने की साजिश का आरोप लगाया

  • आसाराम मामला: बचाव पक्ष ने संतों को बदनाम करने की साजिश का आरोप लगाया
You Are HereNational
Thursday, January 16, 2014-7:26 PM

जोधपुर: आसाराम के खिलाफ यौन उत्पीडऩ मामले में बचाव पक्ष ने आज एक स्थानीय अदालत में दलील दी कि आसाराम भारत के संत समुदाय को बदनाम करने की ‘‘अंतराष्ट्रीय साजिश’’ के शिकार हुए हैं। बचाव पक्ष के वकील ओंकार सिंह लखावत ने आज मामले में दलीलें शुरू की। स्थानीय जिला एवं सत्र अदालत में अभियोजन पक्ष की दलीलें कल पूरी हो गईं।

 
लखावत ने अदालत के समक्ष कहा, ‘‘ भारत में संत समुदाय के खिलाफ एक अंतरराष्ट्रीय साजिश है और आसाराम इस साजिश के शिकार हुए हैं क्योंकि वह देश के एक प्रमुख संत हैं।’’    लखावत भाजपा के राज्य उपाध्यक्ष भी हैं। उन्होंने दावा किया कि आसाराम ‘‘निर्दोष’’ हैं और उन्हें मामले में ‘‘फंसाया’’ गया है।  उन्होंने अपनी दलीलों के समर्थन में कुछ दस्तावेज भी अदालत में पेश किए।
 
 यह पूछे जाने पर क्या भाजपा आसाराम को बचाना चाहती है, उन्होंने कहा कि वह पेशेवर वकील हैं और वह आसाराम के वकील के रूप में अदालत में पेश हुए हैं। उन्होंने कहा, ‘‘ इसमें कोई राजनीतिक अर्थ नहीं है। मैं यहां सिर्फ एक वकील के रूप में हूं जो अपने मुवक्किल के लिए अदालत में पेश हुआ है।’’
 
कल भाजपा के दो विधायकों ने अखिल भारतीय संत सम्मेलन में आसाराम के समर्थकों के साथ मंच साझा किया था। इसका आयोजन आसाराम के समर्थन में अभियान शुरू करने के लिए किया गया था।  वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी पहले ही उच्च न्यायालय में आसाराम की वकालत कर रहे हैं जहां उनकी जमानत याचिका पर सुनवाई हो रही है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You