जो भी बोलूंगा सत्य बोलूंगा : बिन्नी

  • जो भी बोलूंगा सत्य बोलूंगा : बिन्नी
You Are HereNational
Friday, January 17, 2014-12:53 AM

नई दिल्ली  (निहाल सिंह): मैं भगवान, अल्लाह, ईश्वर और गुरु को साक्षी मानकर यह कहना चाहता हूं कि जो भी मैं आज बोलंूगा वह 100 प्रतिशत सत्य होगा। केजरीवाल के खिलाफ मोर्चा खोलकर बगावत पर उतरे पार्टी के बिन्नी ने जब अपनी प्रैसवार्ता शुरू की तो सबसे पहले भगवान को साक्षी मानने की बात कही और फिर अपनी बात शुरू की।

प्रैसवार्ता शुरू होने से पहले बिन्नी का इस तरह की बात कहकर अपनी बात को रखने से लग रहा था कि  मानो बिन्नी अपना वह सारा दुख और भड़ास निकाल रहे हैं जो पिछले कुछ महीनों से वह आप पार्टी में रहकर झेल रहे थे। बिन्नी के हाव भाव से लग रहा था कि उनके मन में जो कुंठा कई दिनों से पल रही हैं वह आज सारी की सारी बाहर आ जाएगी। करीब 45 मिनट तक चली इस प्रैसवार्ता में बिन्नी कई बार भावुक भी हो गए। बस गनीमत रही कि उनके आंसू बाहर नहीं निकले।

बिन्नी ने कहा कि कुछ लोग आज मुझे सत्ता का लालची कह रहे हैं और कह रहे हंै कि पद न मिलने से नाराज हूं। उन्होंने कहा पार्टी ने मुझे दिया क्या केवल मेरा यूज किया है। मैं पार्टी से उस समय से जुड़ा हूं जब कोई राजनीतिक व्यक्ति इससे जुडऩे की सोच भी नहीं सकता था। मैं पार्टी का पहला निगम पार्षद था।

इसके साथ ही मैने पार्टी को स्वराज की अवधारणा दी जिसको भुनाकर पार्टी सत्ता में आई है और वो लोग मुझे आज सत्ता का भोगी बता रहे हैं। बिन्नी ने कहा सत्ता के लोभी तो वह हैं जो इस समय पार्टी में अवसरवादी बन पार्टी से जुड़ रहे हैं। दिल्ली में पिछली 4 विधानसभा से विधायक के साथ कई मंत्री पदों पर रहे लक्ष्मी नगर से पूर्व विधायक डॉ. अशोक कुमार वालिया को चुनाव में परास्त करना वाकई तारीफ के काबिल है। अगर बिन्नी इस सीट पर भी नहीं जीत पाते तो वह हमेशा के लिए किनारे कर दिए जाते और पार्टी उन्हें धीरे-धीरे हाशिए की ओर डाल देती।

सूत्रों के मुताबिक पार्टी ने जानबूझकर बिन्नी को वालिया के खिलाफ चुनावी मैदान में उतारा था लेकिन उनकी किस्मत थी वह वालिया के खिलाफ चुनाव जीत गए, नहीं तो बिन्नी हमेशा के लिए किनारे लग जाते। वहीं इस बात का इशारा बिन्नी ने अपनी प्रैसवार्ता में किया बिन्नी ने कहा कि मैं कभी भी लक्ष्मी नगर से चुनाव नहीं लडऩा चाहता था लेकिन केजरीवाल और मनीष सिसोदिया के कहने पर मैं लक्ष्मी नगर से चुनाव लड़ा। मनीष सिसोदिया ने तो मुझे 100 प्रस्तावकों के साइन भी कराकर दिए थे।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You