दिल्ली जल बोर्ड के 13 इंजीनियरों पर 5 एफ.आई.आर. दर्ज

  • दिल्ली जल बोर्ड के 13 इंजीनियरों पर 5 एफ.आई.आर. दर्ज
You Are HereNational
Friday, January 17, 2014-1:31 AM

नई दिल्ली : केंद्रीय जांच ब्यूरो (सी.बी.आई.) ने भ्रष्टाचार के मामले में दिल्ली जल बोर्ड के खिलाफ पांच एफ.आई.आर. दर्ज की है। सभी मामले उपकरणों की खरीद में हेराफेरी से संबंधित हैं। सी.बी.आई. ने जल बोर्ड के 8 अधिशासी और 5 कनिष्ठ अभियंताओं के खिलाफ मामले दर्ज किए हैं।

एफ.आई.आर. दर्ज करने के बाद सी.बी.आई. ने दिल्ली, नोएडा और गाजियाबाद स्थित आरोपियों के 21 ठिकानों पर छापा मारा। साथ ही जांच एजैंसी उन कंपनियों पर कार्रवाई में जुट गई हैं जो इस घपले में शामिल हैं। सी.बी.आई. के अधिकारियों की टीमें शुक्रवार को कुछ और कंपनियों के कार्यालयों में छापेमारी करने की तैयारी कर रही हैं ताकि घपले से जुड़े तमाम पुख्ता सुबूत जुटाकर बोर्ड के खिलाफ कोर्ट में मजबूत केस दाखिल कर सके।

जल बोर्ड के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जल शोधन संयंत्रों के पार्ट्स, मोटरों, मोटर पंप्स, पानी की नई पाइप लाइनों और अन्य छोटे पाटर््स की खरीद में बोर्ड के अधिकारियों ने मिलकर घपला किया। घपले में शामिल मैट्रो प्रोजैक्ट एंड सैल्स सॢवस कंपनी भी सी.बी.आई. की जांच के दायरे में है। सी.बी.आई. के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि दिल्ली जल बोर्ड पानी की सप्लाई के साथ-साथ सीवेज के ट्रीटमेंट का काम भी करता है।

सीवेज ट्रीटमेंट में मुंबई स्थित कंपनी के एसेनप्रो ब्रांड के मोटर, गियर व अन्य पार्ट लगे थे। जाहिर है कि मरम्मत के दौरान इसी कंपनी के पार्ट्स खरीदे जाने चाहिए थे। लेकिन जल बोर्ड के इंजीनियरों ने मेट्रो प्रोजक्ट एंड सेल्स सर्विसेस के मालिक रमन गुप्ता के साथ मिलीभगत उनकी कंपनी को एसेनप्रो का दिल्ली स्थित क्षेत्रीय सप्लायर साबित कर दिया। इसके लिए एसेनप्रो के फर्जी दस्तावेज तक बना लिए गए। बाद में करोड़ों रुपये के उपकरण को फर्जी एसेनप्रो के नाम पर इस कंपनी से खरीदे गए।

5 सब डिवीजन में चल रहा था फर्जीवाड़ा:
यह फर्जीवाड़ा दिल्ली जल बोर्ड के एक सब डिवीजन तक सीमित नहीं था। इसके कोंडली, कोरोनेशन पिलर, महारानी बाग, वजीराबाद और केशोपुर के 5 सब डिवीजन में सभी एक्जीक्यूटिव और जूनियर इंजीनियरों ने इसी कंपनी से समान फर्जीवाड़े के साथ उपकरण खरीदे। सी.बी.आई. ने सभी सब डिवीजन के लिए अलग-अलग एफ.आई.आर. दर्ज की है।

दिल्ली जल बोर्ड की प्रवक्ता संजम चीमा ने कहा कि मुझे किसी भी तरह के घपले और सी.बी.आई. द्वारा बोर्ड के खिलाफ एफ.आई.आर. दर्ज करने की कोई जानकारी नहीं है


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You