मुजफ्फरनगर में सर्दी के कारण एक और मौत, 200 से अधिक ने मांगा आसरा

  • मुजफ्फरनगर में सर्दी के कारण एक और मौत, 200 से अधिक ने मांगा आसरा
You Are HereNational
Friday, January 17, 2014-10:00 AM

मुजफ्फरनगर: मुजफ्फरनगर के राहत शिविरों से निकाले गये कम से कम 219 दंगा प्रभावित परिवारों ने आज सरकार से अपील की कि उन्हें सर्दी से बचने के लिए अस्थाई सहारा दिया जाए। इस बीच शामली में सर्द मौसम के चलते एक और दंगा प्रभावित की मौत हो गयी। उप जिलाधिकारी शैलेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि उन्होंने शामली जिले के खांदला इलाके में मौत के मामले की जांच के लिए एक दल को भेज दिया है। कल भी जिले के शाहपुर शिविर के पास ठंड के कारण 60 वर्षीय एक महिला की मृत्यु हो गयी थी। शामली के जिला मजिस्ट्रेट के पी सिंह को दिये ज्ञापन में कांधला इलाके के प्लास्टिक के तंबुओं में रहने वाले 219 दंगा पीड़ित परिवारों ने सर्द हवाओं से बचने के लिए सरकारी इमारतों में आसरे की मांग की है।

उन्हें पिछले महीने कांधला राहत शिविर को छोडऩे के लिए कहा गया था। ये परिवार उन इलाकों से हैं, जो पिछले साल भड़के दंगों के दौरान सबसे बुरी तरह प्रभावित हुए थे। सूत्रों ने कहा कि पीड़ित परिवारों ने अपने पत्र में कहा कि उन्हें कड़कड़ाती सर्दी में और भी लोगों, खासकर बच्चों के मारे जाने की आशंका है। उन्होंने कहा कि कई बच्चे बीमार हैं।  इस बीच कांधला के जिदाना गांव में एक अस्थाई शिविर में 30 वर्षीय शख्स की मौत हो गयी। सूत्रों ने बताया कि मोहम्मद रेाजिन ने अपनी पत्नी और तीन बच्चों के साथ कांधला के राहत शिविर को छोड़ दिया था और तब से पास के प्लास्टिक के तंबू में रह रहा था।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You