61 कोयला ब्लाक कंपनियों को कारण बताओ नोटिस जारी

  • 61 कोयला ब्लाक कंपनियों को कारण बताओ नोटिस जारी
You Are HereNational
Friday, January 17, 2014-10:09 AM

नई दिल्ली: कोयला मंत्रालय ने 61 कोयला ब्लाको का निर्धारित समय पर विकास और खनन शुरू नहीं करने के कारण उनका आवंटन रद्द करने के लिए संबंधित कंपनियों को कारण बताओ नोटिस जारी करते हुये 20 दिनों में जबाव देने के लिए कहा है। इन कंपनियों में टाटा स्टील लिमिटेड, आर्सेलर मित्तल लिमिटेड, हिंडालको इंडस्ट्रीज लिमिटेड, अदानी पावर लिमिटेड और रिलायंस एनर्जी लिमिटेड जैसी कंपनियां भी शामिल है।

कोयला मंत्रालय के अनुसार कैप्टिव उपयोग के लिए विभिन्न कंपनियों को 61 ब्लाको का आंवटन किया गया था1 आवंटियों द्वारा निर्धारित समय पर पर्यावरण एवं वन सहित कई प्रकार की मंजूरी हासिल करने की कोशिश सहित उन सभी कारणों के बारे में पूछा गया है जिससे ब्लाको का विकास समय पर नहीं किया जा सका है। आवंटियों को पांच फरवरी तक जबाव देने के लिए कहा गया है।

इसके बाद एक सप्ताह में आंवटन रद्द करने का निणय लिया जायेगा।  मंत्रालय ने जिन कंपनियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है उनमें टाटा स्टील लिमिटेड , भूषण स्टील, टाटा स्पंज आयरन लिमिटेड ,एस्सार पावर , टाटा पावर कंपनी, हिंडालको इंडस्ट्रीज , रूंगटा माइन्स लिमिटेड , डी बी पावर लिमिटेड , अदानी पावर लिमिटेड , आर्सेलर मित्तल इंडिया लिमिटेड, जीवीके पावर लिमिटेड, जे के सीमेंट लिमिटेड , उत्कल कोल, मोन्नेट इस्पात एंड एनर्जी लिमिटेड , स्टरलाइट लिमिटेड ,लैंको ग्रुप लिमिटेड, आर्सेलर मित्तल लिमिटेड, रिलायंस एनर्जी लिमिटेड, जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड , जयप्रकाश एसोसियेट लिमिटेड, जेएसडब्ल्यू लिमिटेड और भूषण पावर एंड स्टील लिमिटेड आदि शामिल है। उल्लेखनीय है कि सरकार ने कल उच्चतम न्यायालय को सूचित किया था कि उसने 41 कोयला कंपनियों को नोटिस जारी करके पूछा है कि क्यों न उनके लाइसेंस निरस्त कर दिये जाएं। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You