अबू सलेम के खिलाफ कम गंभीर आरोप वापस लिए गए

  • अबू सलेम के खिलाफ कम गंभीर आरोप वापस लिए गए
You Are HereNational
Friday, January 17, 2014-12:32 PM

मुंबई: आतंकवाद एवं विध्वंसकारी गतिविधि निरोधक कानून (टाडा) की विशेष अदालत ने आज अभियोजन पक्ष को जेल में बंद गैंगस्टर अबू सलेम के खिलाफ कम गंभीर प्रकृति के आरोप वापस लेने की अनुमति दे दी। इनमें एक मामला शहर के रियल एस्टेट कारोबारी प्रदीप जैन का है जिसकी हत्या उसके बंगले के पास1995 में कर दी गई थी।

 
अदालत ने अभियोजन पक्ष की ओर से दायर एक याचिका को स्वीकारते हुए यह आदेश दिया जिसमें कहा गया था कि अबू सलेम के खिलाफ टाडा और भारतीय दंड संहिता के दायरे में आने वाले कम गंभीर Ÿोणी के आरोप वापस लिए जाने की अनुमति दी जाए।
 
सरकारी वकील उज्ज्वल निकम ने यहां संवाददाताओं को बताया किा प्रदीप जैन हत्याकांड मामले में अबू सलेम ने अदालत में दायर याचिका में कहा था कि उसके खिलाफ इस मामले में आरोप वापस लिए जाए क्योंकि उसके प्रत्यर्पण के समय पुर्तगाल ने भारत सरकार से यह आधिकारिक आश्वासन मांगा था कि अबू सलेम को किसी भी मामले में फांसी की सजा नहीं दी जाएगी।
 
उन्होंने बताया कि चूकिं इस मामले में उसे मौत की सजा मिल सकती थी इसलिए उसके खिलाफ ये आरोप वापिस ले लिए गए।   गौरतलब है कि 1993 में मुंबई में हुए सिलसिलेवार बम धमाकों में अबू सलेम एक आरोपी है।  प्रदीप जैन हत्याकांड मामले में अदालत फिलहाल अबू सलेम, एक अन्य रिएल एस्टेट कारोबारी विरेन्द्र झांब और महेंदी हसन तथा रियाज सिद्दीकी की कथित भूमिका की जांच कर रही है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You