PM जी 9 सिलेंडर से बात नहीं बनती, 12 सिलेंडर चाहिए: राहुल गांधी

You Are HereNational
Friday, January 17, 2014-8:10 PM

नई दिल्ली: नई दिल्ली: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने उन्हें प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनाने की मांग के मद्देनजर आज कहा कि वह कोई भी जिम्मेदारी उठाने को तैयार हैं लेकिन प्रधानमंत्री का चुनाव पार्टी के निर्वाचित सांसदों को ही करना चाहिए। राहुल ने यहां अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की बैठक को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘हमारे संविधान में लिखा है कि प्रधानमंत्री को सांसद चुनते है।’’

उन्होंने कहा कि कांग्रेस लोकतांत्रिक पार्टी है और लोकतांत्रिक ढंग से काम करती है इसलिए प्रधानमंत्री का चुनाव संविधान के अनुरुप पार्टी सांसद ही करेंगे। उन्होंने पूरे विश्वास से कहा, ‘‘अगला चुनाव हम जीतकर दिखाएंगे।’’

उन्होंने उत्साहित कार्यकर्ताओं को आश्वस्त किया कि वह पार्टी के समर्पित सिपाही है तथा पार्टी जो भी उनसे करवाना चाहती है, वह करने को तैयार है। चाहे वह कुछ भी हो। कांग्रेस कार्य समिति की कल हुई बैठक में राहुल को अगले आम चुनाव के प्रचार अभियान का नेतृतव सौंपने का फैसला किया गया था जिस पर इस बैठक में मुहर लगा दी गई।

 

 

राहुल गांधी के भाषण के कुछ प्रमुख अंश: 

-RTI की ताकत हमने इस देश की जनता को दी। 

-सबसे बड़ा ऐंटि करप्शन प्लैटफॉर्म 'आधार' है

-मणि शंकर अय्यर को पंचायती राज लाने में सहायता करने के लिए धन्यवाद करना चाहता हूं।

-कांग्रेस ने जनता तक पैसे पहुंचाए।

-हमने लोगों को शक्ति देने के लिए जो किया है वह अद्वितीय है

-लोकतंत्र किसी एक व्यक्ति से नहीं चलता

-कानून बनाना विधायक व सांसद का काम है

-कांग्रेस ने लोगों को नरेगा और भोजन का अधिकार दिया

-हम सांप्रदायिकता की आग जलाकर और एक आदमी के हाथों में सत्ता सौंपने में विश्वास नहीं करते

-संप्रग की 10 साल की स्थिरता ने युवाओं को व्यापक अवसर दिए। मैं प्रधानमंत्री को उनके महान कार्य के लिए धन्यवाद देता हूं।

- कानून बनाने का काम सांसदों का आज सड़क पर बन रहा है कानून

-लोकतंत्र तानाशाही से नहीं चलता

-सोनिया गांधी और अन्य वरिष्ठ नेता कांग्रेस की ताकत हैं

-राजीव जी ने देश को 21 वीं सदी तक ले जाने की नींव रखी थी

-चुनाव कौन लड़ेगा जिसके दिल में कांग्रेस का इतिहास होगा, कांग्रेस होगी

- कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को टिकट देंगे।

-विपक्ष विरोध की राजनीति करता है, हम सबको साथ लेकर चलने की बात करते हैं

-घोषणापत्र पहले बंद कमरों में बनता था लेकिन अब हम लोगों से पूछकर बनाएंगे

-लोकसभा के 15 सीटों पर चुनाव करवाकर टिकट बांटेंगे

-हम युवाओं, महिलाओं, वर्कर्स, कॉरपोरेटर्स से पूछेंगे और आप जो कहेंगे वही घोषणापत्र में जाएगा और पार्टी उसे पूरा करेग

-पार्टी में महिलाओं की भागीदारी बढऩी चाहिए

-मैं चाहता हूं कि देश में आधे से ज्यादा राज्यों की मुख्यमंत्री महिलाएं हों

-प्रधानमंत्री जी 9 सिलेंडर से बात नहीं बनती। 12 सिलेंडर चाहिये।

-विपक्ष के लोग देश का इतिहास नहीं जानते।विपक्ष की मार्केटिंग ऐसी है कि वे गंजों को कंधे बेच डाला।

-कांग्रेस संगठन नहीं प्रेम की सोच है

-हमारा विपक्ष इतना अच्छा है कि वह गंजे लोगों को कंघी बेच सकता है और नई पार्टी तो गंजे लोगों की हेयरकटिंग कर सकती है

-


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You