‘आप’ की जीत ने पेश की लोकतंत्र की अच्छी मिसाल: अमर्त्य सेन

  • ‘आप’ की जीत ने पेश की लोकतंत्र की अच्छी मिसाल: अमर्त्य सेन
You Are HereNational
Friday, January 17, 2014-4:20 PM

जयपुर: नोबल पुरस्कार विजेता और प्रसिद्ध अर्थशास्त्री अमर्त्य  सेन ने कहा है कि दिल्ली विधानसभा चुनावों के जरिए राजनीति में पहली बार कदम रखने वाली आम आदमी पार्टी की जीत ने भारतीय लोकतंत्र की ताकत की एक अच्छी मिसाल पेश की है। सेन ने ये विचार जयपुर साहित्य समारोह में शिरकत करते हुए कहे।
 
सातवें जयपुर साहित्य सम्मेलन में लोगों से खचाखच भरे मुख्य सत्र को संबोधित करते हुए सेन ने कहा, ‘‘पार्टी ने शुरूआती गतिरोध पार कर लिया है। हालांकि उसे अभी एक लंबा रास्ता तय करना है।’’उन्होंने कहा, ‘‘उन्हें अभी एक लंबा रास्ता तय करना है लेकिन शुरूआती गतिरोध पार किया जा चुका है और कुछ प्रशासनिक सुधारों की भारी जरूरत को नकारा नहीं जा सकता।’’
 
देश की राजनीति को हिलाकर रख देने वाली नई पार्टी की सराहना करते हुए सेन ने कहा कि इसने इस बात की मिसाल पेश की है कि किस तरह जमीनी स्तर की समस्याएं सीधे चुनावी मुद्दों के रूप में उठाई जा सकती हैं। उन्होंने कहा, ‘‘लोकतंत्र हमारे देश का महत्वपूर्ण हिस्सा है। हमें इसका सही इस्तेमाल करना है। लोकतंत्र की ताकत का कुशलतापूर्ण इस्तेमाल आम आदमी पार्टी ने किया है।’’नोबेल पुरस्कार से सम्मानित अर्थशास्त्री ने कहा कि इस समय सरकार को कुछ मुद्दों पर आत्मनिरीक्षण करने की जरूरत है।
 
उन्होंने कहा, ‘‘क्या सब्सिडी से आर्थिक संसाधन बर्बाद होते हैं? किसी सरकार की ‘राजकोषीय जिम्मेदारी’ क्या है? क्या डीजल, बिजली, भोजन पर सब्सिडी देने से और रसोई गैस की कीमत कम करने से देश लोकतांत्रिक और आर्थिक रूप से तरक्की कर सकता है? हमें इसपर गहराई से सोचने की जरूरत है।’’उन्होंने आर्थिक विकास बनाए रखने के लिए स्वस्थ माहौल बनाने के लिए देश की जनता द्वारा उपलब्ध संसाधनों के बेहतर इस्तेमाल की वकालत की।
 
विभिन्न समकालीन मुद्दों पर मुखर रहने वाले सेन ने इस मंच का इस्तेमाल समलैंगिकता को अपराध की श्रेणी में लाने वाले उ‘चतम न्यायालय के फैसले की आलोचना के लिए किया। सेन ने पूछा, ‘‘दंड संहिता के अनुच्छेद 377 को अदालत ने बदल दिया। शीर्ष अदालत ने ‘बदले हुए फैसले को बदल दिया’ और एक बेहद निजी बर्ताव को सार्वजनिक अपराध बना दिया। क्या यह लोकतांत्रिक है?’’
 
जेएलएफ के पांच दिवसीय समारोह में एक और नोबेल विजेता हैरल्ड वारमस भी शामिल होंगे। समारोह में शिरकत करने वाले वक्ताओं में झुंपा लाहिड़ी, जिम क्रेस, जोनाथन फ्रैंजन, शशि थरूर, इरफान खान, जावेद अख्तर समेत कई मशहूर हस्तियां शामिल होंगी। जयपुर के ऐतिहासिक डिग्गी पैलेस में फैले छह विभिन्न आयोजन स्थलों में 175 सत्र होने हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You