बिन्नी मामले को दबाने का खेल!

  • बिन्नी मामले को दबाने का खेल!
You Are HereNcr
Saturday, January 18, 2014-12:24 PM

नई दिल्ली (निहाल सिंह): दिल्ली में सरकार बनाए अभी अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी को एक महीना भी पूरा नहीं हुआ कि सरकार लगातार विवादों के घेरे में आती जा रही है। कभी बड़े सरकारी आवास को लेकर तो कभी पुलिस पर अपना अधिकार जमाने तो कभी अपने ही विधायक द्वारा मुद्दे से भटकने के आरोप लगातार पार्टी को घेरते जा रहे हैं। तमाम विवादों के सामने आने के बाद अब पार्टी डैमेज कंट्रोल पर आ गई है।

शायद यही वजह है कि आम आदमी पार्टी (आप) बिन्नी की बगावत के बाद दिल्ली पुलिस और सोमनाथ भारती के छापेमारी के मामले को तूल देने में लग गई है। इसको लेकर पार्टी बकायदा हर मामले पर पुलिस से भिड़ती हुई नजर आ रही है। पार्टी के सूत्रों के मुताबिक पार्टी बिन्नी के मामले में जितना हो सके उतना मीडिया की सुर्खियों में आने से रोकना चाहती है, इसलिए पार्टी का कोई भी नेता अब बिन्नी मामले पर कुछ भी बोलने से साफ इंकार कर रहा है लेकिन पार्टी चाहती है कि किसी भी तरह इस मामले को अभी फिलहाल शांत किया जाए।

सूत्र बताते हैं कि बिन्नी की बगावत के बाद वीरवार देर रात तक पार्टी के बड़े नेताओं संजय सिंह, आशुतोष और योगेंद्र यादव सहित कई नेताओं के बीच मीटिंग हुई, जिसमें मामले को किस तरह से दबाया जाए उस पर चर्चा हुई। सूत्रों के मुताबिक पार्टी अब बिन्नी के बगावत को ऊपर से नजरअंदाज करके सोमनाथ भारती के मुद्दे को अपने हथियार के तौर पर उपयोग करेगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You