सामुदायिक नेता के कुप्रबंधन से हुई थी भगदड़: पुलिस

  • सामुदायिक नेता के कुप्रबंधन से हुई थी भगदड़: पुलिस
You Are HereNational
Saturday, January 18, 2014-8:31 PM

मुंबई: पुलिस की शुरुआती जांच से यह तथ्य उभर कर आया है कि सामुदायिक नेताओं के कुप्रबंधन और अपने मरहूम रूहानी पेशवा सैयदना मोहम्मद बुरहानुद्दीन को खिराज-ए-अकीदत पेश करने के लिए आने वाले लोगों की इतनी बड़ी तादाद का अंदाजा लगाने में उनकी नाकामी से भगदड़ मची। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि उचित प्रबंधन की कमी और अपने रूहानी पेशवा के आखिरी दीदार के लिए आने वाले अकीदतमंदों की तादाद का अंदाजा लगाने में सामुदायिक नेताओं की नाकामी से यह भगदड़ मची। इस भगदड़ में 18 लोगों की मौत हो गई।

पुलिस अधिकारी ने कहा, बोहरा समुदाय के नेताओं ने कल हमें सूचित किया कि सैयदना के मकान पर कोई भीड़ जमा नहीं होने दी जाएगी। उन्होंने बताया कि समुदाय के लोग जनाजे के दौरान आज अपना खिराज-ए-अकीदत पेश करेंगे और उसी हिसाब से सुरक्षा इंतजाम किए गए। अधिकारी ने बताया, बहरहाल, कल रात नौ बजे नेताओं ने बिना हमसे संपर्क किए टेक्स्ट मेसेज भेजना शुरू कर दिया कि अकीदतमंदों को उनके मकान सैफी महल पर सैयदना का आखिरी दीदार करने की इजाजत दी जा रही है।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You