मौत से चंद घंटे पहले तक ट्वीट कर रही थी सुनंदा

  • मौत से चंद घंटे पहले तक ट्वीट कर रही थी सुनंदा
You Are HereNational
Saturday, January 18, 2014-11:19 PM

नई दिल्ली (हर्ष कुमार सिंह): सुनंदा पुष्कर थरूर की जिंदगी शायद सोशल नेटवर्किंग के इतिहास में सबसे ज्यादा पढ़ी जाने वाली कहानी बनकर रह जाएगी। सुनंदा के पति शशि थरूर भारत में ट्विटर के लीजेंड कहे जाने लगे हैं।

वे उन लोगों में से हैं तो ट्विटर पर बेहद एक्टिव रहते हैं और न सिर्फ आज से बल्कि लगभग पांच साल से शशि थरूर ट्विटर पर अपने बेबाक विचार जाहिर करते रहे हैं, जबकि सुनंदा पिछले साल ही ट्विटर पर आई थी और उन्होंने अपने जीवन में कुल 5229 ट्वीट किए। वे 284 लोगों को फॉलो की थी। इसके अलावा कई बड़ी शख्सियतें उन्हें फॉलो करती थीं। वे कितनी बेबाक थी इसाक अनुमान इसी से लगाया जा सकता है कि अपनी मौत से कुछ घंटे पहले तक भी ट्वीट कर रही थीं।

सुनंदा ने शशि के कहने पर ही ट्विटर ज्वाइन किया था लेकिन उनका एकाउंट वैरीफाइड एकाउंट नहीं था। जबकि शशि नीले निशान वाले वैरीफाइड एकाउंट से ही ट्वीट करते थे। एकाउंट को वैरीफाइड कराना कोई आसान काम नहीं होता, इसके लिए सिफारिश और संपर्क जरूरी होते हैं।

सुनंदा बेबाक विचारों वाली महिला थी और उन्होंने कभी जरूरी नहीं समझा कि एकाउंट को वैरीफाइड कराया जाए। इसके बावजूद लाखों में उनके चाहने वाले बन गए थे। सुनंदा ने कई अहम राष्ट्रीय मुद्दों पर भी अपने विचार व्यक्त किए थे। चाहे वो कश्मीर का मुद्दा हो या फिर समलैंगिक संबंधों पर सुप्रीम कोर्ट का चर्चित फैसला।

पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार के साथ शशि के ट्वीट्स, ई-मेल और बीबीएम आदि का पता चलने के बाद जब सारा मामला खुला तो सुनंदा ने खुलकर अपनी बात कही। उन्होंने एक कदम आगे जाते हुए मीडिया के साथ बातचीत भी की। उन्होंने इलैक्ट्रॉनिक चैनलों पर लाइव टेलीफोनिक बयान भी दिए। उन्होंने किसी भी बयान में अपने आपको कमजोर नहीं दिखाया और लग रहा था कि वे इस स्थिति का सामना हिम्मत के साथ करने जा रही हैं।

17 जनवरी की शाम को वे होटल के कमरे में मृत मिली लेकिन इससे कुछ घंटे पहले वे ट्वीट्स करने में बिजी थी। दिल्ली में ए.आई.सी.सी. की बैठक में भाग लेने के लिए शशि केरल से दिल्ली आए तो वे भी उनके साथ आई थी। 16 जनवरी को वे लीला होटल में ही थीं और उन्होंने टीवी पर दिखाई सारी कवरेज को गौर से देखा था।

16-17 जनवरी की रात एक बजकर दो मिनट पर सुनंदा ने टीवी पत्रकार राहुल कंवल को ट्वीट किया था। इसमें उन्होंने लिखा- राहुल मैंने तुम्हारा शो देखा और तुम्हें बताना चाहती हूं कि मेहर तरार ने कोरा झूठ बोला, उसके मेरे पति के साथ सारे बीबीएम और ई-मेल मेरे पास हैं और मैं झूठ नहीं बोलती। राहुल के लिए सुनंदा के किए गए इस ट्वीट पर इतनी प्रतिक्रियाएं आई कि सुनंदा उनका जवाब 17 जनवरी की सुबह 5.40 बजे तक देती रहीं।

तमाम तरह के कमेंट लोगों ने किए और सुनंदा ने उनके जवाब भी खुलकर दिए। ये सारे ट्वीट उनके एकाउंट पर पड़े हैं और अपने आप में ही पूरी कहानी कह रहे हैं। उनसे किसी ने पूछा कि उन्हें इस मामले को मीडिया में नहीं उछालना चाहिए, तो सुनंदा ने कहा कि अगर कोई उनके पति पर डोरे डाल रही है तो वे कैसे चुप रह सकती हैं? उनके एक फालोअर ने पूछा कि आपके बारे में कहा जा रहा है कि आप बीमार हैं, फिर क्या ट्वीट्स अस्पताल से आ रहे हैं? इस पर सुनंदा ने कहा- नहीं मैं शशि के साथ केरल से दिल्ली आ गई हूं और यहीं से ट्वीट कर रही हूं।

एक कमेंट के जवाब में तो सुनंदा ने यहां तक कह दिया- हां, जब अपना पति छोड़ देता है तो दूसरों का मियां पकड़ो, बहुत दुख की बात हैं, बेचारी पर दया आती है। रात में दो बजकर आठ मिनट पर सुनंदा ने ट्वीट किया कि मैं और मेरे पति बहुत खुश हैं और मेहर मुझे टीवी पर झूठ बोलकर परेशान नहीं कर सकती। इस तरह के बेबाक ट्वीट करने के बाद सुनंदा ने ब्रेक लिया और फिर 17 जनवरी को पूरा दिन उनका कोई ट्वीट नहीं आया। आई तो उनकी मौत की खबर।

शशि का अंतिम ट्वीट:
रोजाना ट्वीट करने वाले शशि थरूर ने 17 जनवरी को अपना अंतिम ट्वीट शाम 7.55 बजे किया। इसमें राहुल गांधी को तालकटोरा इंडोर स्टेडियम में बोलते हुए दिखाया गया था। शशि ने लिखा कि राहुल की स्पीच आंदोलित कर देने वाली थी। माना जा रहा है कि इस ट्वीट को शशि ने होटल लीला जाते समय किया। इसके बाद आठ से साढ़े आठ बजे के बीच तो उन्हें सुनंदा की मौत के बारे में ही पता चल गया।

मेहर तरार ने बदला डी.पी.:
इस पूरे प्रकरण की अहम कड़ी पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार ने सुनंदा की मौत पर 17 जनवरी की रात दस बजे अफसोस जाहिर करने वाला ट्वीट करने के बाद ट्वीट्स करने का सिलसिला बंद कर दिया। अलबत्ता ट्वीट करने के बाद मेहर ने ट्विटर पर नजर आने वाली अपने डी.पी. (डिस्प्ले पिक्चर) बदल दी। उसकी जगह जलते दिए की लौ (जो श्रद्धांजलि का प्रतीक मानी जाती है) को लगा दिया।

कौन है ये मेहर तरार?
मेहर तरार (45) लाहौर की एक पत्रकार है और एक 13 साल के बच्चे की मां है। बहरीन को रईस से उसने शादी की थी और अब उससे अलग रह रही है। पाकिस्तान के एक दैनिक में वह काम करती थी लेकिन कुछ दिन पहले उसने नौकरी छोड़ दी। मेहर पिछले साल दिसम्बर में नई दिल्ली आई थी और उसने जम्मू-कश्मीर के सी.एम. उमर अब्दुल्ला का इंटरव्यू लिया था।

मेहर ने ये भी कहा था कि वह पिछले साल अप्रैल में शशि थरूर का इंटरव्यू लेने भारत आई थी और फिर जून में दुबई में उनसे एक कार्यक्रम में मिली थी। इसके बाद वह ई-मेल और ट्वीट्स के जरिये उनके संपर्क में बनी रही। बताते हैं कि उमर अब्दुल्ला ने भी उन्हें इंटरव्यू इसलिए दिया था क्योंकि शशि के दफ्तर से इसके लिए प्रयास किए गए थे। मेहर केरल पर एक किताब लिखना चाहती थी और इसलिए भी शशि के टच में थी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You