नए रोजगार के मामले में राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र देश में अव्वल: सर्वे

  • नए रोजगार के मामले में राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र देश में अव्वल: सर्वे
You Are HereNational
Sunday, January 19, 2014-1:37 PM
नई दिल्ली: वर्ष 2013 के दौरान देश में बने नए रोजगार के अवसरों में एक चौथाई हिस्सा अकेले दिल्ली राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र से रहा। उद्योग संगठन एसोचैम की ओर से कराए गए ताजा सर्वेक्षण के अनुसार वर्ष 2013 के दौरान एनसीआर में 1.39 लाख नए रोजगार के अवसर रहे। समीक्षाधीन अवधि में देश के पांच महानगरों में दिल्ली एनसीआर और बेगलूर रोजगार के लिहाज से सबसे ज्यादा अवसरों वाले शहर बने रहे। वर्ष 2012 की तुलना में वर्ष 2013 में इन शहरों में रोजगार की वृद्धि दर 12 प्रतिशत रही तथा रोजगार के नए अवसरों के हिसाब से यह बढ़त चार प्रतिशत की रही। जबकि तीन अन्य महानगरों चेन्नई, कोलकाता और मुंबई में इस दौरान रोजगार के अवसर 21 प्रतिशत घटे और नए रोजगार के अवसरो में भी दो प्रतिशत की कमी आई।
 
सर्वेक्षण के अुनसार बीते साल देश में कुल 5.50 लाख नए रोजगार का सृजन हुआ जबकि इसके पिछले वर्ष यह संख्या 5.52 प्रतिशत रही थी। इस लिहाज से देखा जाए तो वर्ष 2013 में नए रोजगार के अवसर दो प्रतिशत कम हुए।
 
सर्वेक्षण के अनुसार बीते साल सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) क्षेत्र में आए नौकरियों के अवसरों में साफ्टवेयर और हार्डवेयर उद्योग की हिस्सेदारी 43 प्रतिशत रही। हालांकि देश में सृजित कुल नौकरियों के हिसाब से वर्ष 2013 में आईटी क्षेत्र में रोजगार के अवसर इसके पिछले वर्ष की तुलना में एक प्रतिशत घट गए। वर्ष 2012 में जहां आईटी क्षेत्र में 2.36 लाख नई नौकरियां आईं वहीं 2013 में यह घटकर 2.34 लाख रह गईं।
 
एसोचैम की ओर से कुल 32 क्षेत्रों में कराए गए सर्वेक्षण के हिसाब से देखा जाए तो वर्ष 2012 की तुलना में वर्ष 2013 में 20 क्षेत्रों मे नई नौकरियों के अवसर घटे। हालांकि इसके विपरीत जिन दस क्षेत्रों में नए रोजगार बढ़े उनमें बैकिंग, वित्तीय सेवाएं, बीमा, शिक्षा, टेलीकाम, रियल इस्टेट, विनिमार्ण, निमार्ण और इंजीनियरिंग और आटोमोबाइल क्षेत्र प्रमुख रहा। इनमें रोजगार के अवसरों में 3.4 प्रतिशत से लेकर 15 प्रतिशत तक की वृद्धि रही।
अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You