‘चेन्नई में पूरे कपड़ें पहनती हैं महिलाएं इसलिए वहां यौन अपराध कम’

  • ‘चेन्नई में पूरे कपड़ें पहनती हैं महिलाएं इसलिए वहां यौन अपराध कम’
You Are HereNational
Sunday, January 19, 2014-2:42 PM

भोपाल: मध्यप्रदेश के गृह मंत्री बाबूलाल गौर ने कहा है कि चेन्नई में महिलाओं द्वारा पूरे कपड़े पहनने और नियमित मंदिर जाने की वजह से वहां उनके खिलाफ यौन अपराध कम होते हैं। हाल ही में चेन्नई के दौरे से लौटे प्रदेश के गृह मंत्री गौर ने आज से कहा, ‘भोपाल की तुलना में चेन्नई में महिलाओं के प्रति यौन अपराध कम होते हैं, क्योंकि वहां वह पूरे कपड़े पहनती हैं और नियमित रुप से मंदिर जाती हैं’। उन्होंने कहा कि वर्ष 2012 में चेन्नई में महिलाओं के प्रति यौन अपराध दर 19.32 प्रतिशत थी, जबकि भोपाल में यह दर 71.38 फीसदी थी।

 

गौर ने कहा कि समूचे मध्यप्रदेश में भी उस दौरान महिलाओं के खिलाफ अपराध की दर 71 प्रतिशत थी। उन्होंने कहा कि उनके चेन्नई दौरे के दौरान उनसे कई वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की मुलाकात हुई और उन्होंने (पुलिस अधिकारियों) उन्हें बताया कि उनके शहर में महिलाएं पूरे कपड़े पहनती हैं और नियमित रुप से मंदिर जाती हैं। गृह मंत्री ने कहा कि चेन्नई के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने उन्हें बताया कि यही वे कारण हैं, जिनकी वजह से उनके राज्य तमिलनाडु में महिलाओं के खिलाफ यौन अपराध की दर किसी अन्य राज्य की तुलना में कम है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You