कोई भी मां अपने बेटे की बलि नहीं चढ़ाना चाहती: नरेन्द्र मोदी

  • कोई भी मां अपने बेटे की बलि नहीं चढ़ाना चाहती: नरेन्द्र मोदी
You Are HereNational
Sunday, January 19, 2014-7:28 PM

नई दिल्ली: दिल्ली के रामलीला मैदान में बीजेपी की राष्ट्रीय परिषद की बैठक के समापन समारोह में बीजेपी के पीएम पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। कार्यक्रम के दौरान मोदी ने कहा कि कोई भी मां अपने बेटे की बलि नहीं चढ़ाना चाहती, इसलिए कांग्रेस अपना पीएम पद का कैंडिडेट घोषित नहीं कर रही है।

मोदी ने कहा कि जब पराजय निश्चित है, तो क्या कोई मां अपने बेटे की बलि चढ़ाने के लिए तैयार होगी? नहीं, कभी नहीं। इसलिए मां ने कहा, मेरे बेटे को बचाओ। तभी तो 17 को हुए कांग्रेस के अधिवेशन में पीएम कैंडिडेट का नाम फइनल नहीं हुआ। कांग्रेस के कार्यकर्ता बड़ी आशा से दिल्ली आए थे। उन्हें बताया गया था कि पीएम कैंडिडेट 17 को घोषित हो जाएगा। लेकिन कांग्रेस के कार्यकर्ता आए थे पीएम कैंडिडेट लेने, वापस गए गैस के 3 सिलेंडर लेकर।

मोदी ने कहा कि लोकतांत्रिक परंपराओं का उदाहरण कांग्रेस दे रही है। क्या यह सच्चाई है। मैं आशा करता था कि देश जानना चाहता है कि आजादी के बाद जब पहले पीएम पसंद किए गए थे, तब लोकतात्रिक परंपराओं का क्या हुआ था। सभी सरदार वल्लभ भाई पटेल को पीएम बनाना चाहते थे, लेकिन पटेल को पीएम नहीं बनने दिया गया। आज ये परंपरा की बात करते है।

मोदी ने कहा कि हम सभी भाजपाइयों को चुनाव के मैदान में कार्य करने का अनुभव है। लेकिन 2014 का चुनाव हर प्रकार से अलग होगा। इसके पूर्व देश की ऐसी दुर्दशा कभी नहीं देखी। देश नेताविहीन है और जो हैं उनकी नीयत भी शक के घेरे में है। भ्रष्टाचार का ऐसा विकराल रूप इस दशक में जो देखा है, वो देश ने कभी नही देखा है।

आत्महत्या करते हमारे किसान, रोजगार के लिए भटकता नौजवान, इज्जत बचाने के लिए परेशान बहनें, ऐसी दशा कभी नहीं देखी। अब इसलिए 2014 का चुनाव सिर्फ सत्ता परिवर्तन का चुनाव नहीं है। यह 2014 का चुनाव भारत के कोटि- कोटि जनों के लिए एक आशा और अरमान का चुनाव होगा।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You