बेमेतरा गर्ल्स हॉस्टल पर भूत का साया!

  • बेमेतरा गर्ल्स हॉस्टल पर भूत का साया!
You Are HereChhattisgarh
Sunday, January 19, 2014-8:26 PM

बेमेतरा: छत्तीसगढ़ के बेमेतरा में अनुसूचित जाति बालिका छात्रावास में इन दिनों रात होते ही एक लड़की अजीबोगरीब हरकतें करने लगती है। वह कहती है कि उस पर भूत का साया पड़ता है। उसकी बात से अन्य लड़कियां भी डरी-सहमी रहती हैं। छात्रावास में भूत-प्रेत का साया होने की बात को लेकर हड़कंप है। कथित रूप से भूत से परेशान लड़की को उसके गांव भेज दिया गया है।

 

 

छात्रावास में रहने वाली 9वीं कक्षा की छात्रा सत्यवती बांधे पिछले 15 दिनों से रात में डर रही है। रात 11 बजे के बाद वह अजीबोगरीब हरकतें करने लगती है। वह तरह-तरह की आवाजें निकालती है और कभी हाथ-पैर पटकती है तो कभी सिर पटकने लगती है। उसे देख छात्रावास की अन्य छात्राएं भी भयभीत हैं। इसी के चलते शुक्रवार की शाम सत्यवती के पिता उसे अपने गांव रवेली ले गए।

 

पीड़ित लड़की का कहना है कि उस पर भूत का साया पड़ता है, जबकि छात्रावास की अधीक्षक आर. बारले का कहना है कि लड़की शायद मनोरोगी है, यहां भूत-प्रेत जैसी कोई बात नहीं है। 

 

अधीक्षक ने कहा कि उन्होंने इस बात की जानकारी अपने उच्च अधिकारियों को दे दी है। हॉस्टल की बाकी लड़कियों को इस तरह की कोई परेशानी नहीं है। पचास सीटों वाले इस छात्रावास में वर्तमान में 68 छात्राएं रहती हैं। यहां कक्षा 8 से 12 तक की छात्राओं के अलावा पांच छात्राएं कॉलेज की हैं।

 

पीड़ित छात्रा के साथ रहने वाली 10वीं कक्षा की छात्रा निशा डाहिरे व रामेश्वरी कुर्रे ने बताया कि सत्यवती विगत दिसंबर माह से ही रात में अजीबोगरीब हरकतें कर रही है। जब तक वह छात्रावास में रहती है, तब तक रोज रात में वह असामान्य-सी रहती है, लेकिन जब से वह अपने गांव से आने-जाने लगी है, तब से ठीक है। 

 

बीते बुधवार व शनिवार को भी सत्यवती असामान्य हरकतें करने लगी, लेकिन घंटेभर बाद वह सामान्य हो गई। छात्राओं का कहना है कि उसकी हरकतें देख छात्राएं भयभीत हैं। 

 

अधीक्षक बारले ने बताया कि सत्यवती की तबीयत खराब होने के बाद उसके अभिभावक को जानकारी दी गई। छात्रा के पिता उसे शुक्रवार की शाम अपने साथ घर ले गए। बारले ने बताया कि अभी अर्धवार्षिक परीक्षा चल रही है। हॉस्टल की बाकी छात्राएं स्वस्थ हैं। 

 

बहरहाल, हास्टल में इस तरह की हरकतों से आसपास के निवासी भी भयभीत हैं। उन्होंने छात्राओं की भ्रांतियों को दूर करने के लिए यहां अंधश्रद्धा उन्मूलन समिति के लोगों को बुलाने की मांग की है।

 
अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You