शीतलहर ने राजस्थान में बढ़ाई ठिठुरन

  • शीतलहर ने राजस्थान में बढ़ाई ठिठुरन
You Are HereNational
Monday, January 20, 2014-1:41 PM

जयपुर: राजस्थान के अधिकांश इलाकों में शीतलहर  के कारण ठिठुरन आज भी बरकरार रही वहीं घने कोहरे के कारण सुबह सांगानेर हवाई अड्डे पर दृश्यता कम होने के कारण करीब आधा दर्जन विमान सेवाएं प्रभावित हुई। जयपुर में सुबह घना कोहरा छाये रहने के कारण वाहन चालकों को हेड लाइट का सहारा लेना पड़ा।  सुबह कोहरे के कारण सांगानेर हवाई अड्डे पर आधा दर्जन उडानों में बिलम्ब होने से दो हजार से अधिक यात्रियों को तीन से चार घंटे इंतजार करना पड़ा। 

सुबह दस बजे बाद कोहरा छंटने के बाद विमानों की आवाजाही शुरु हो सकी।  उत्तर प्रदेश और दिल्ली की ओर से आने वाली 13 रेलगाडियां भी बिलम्ब से चलीं जिससे हजारों यात्री कड़ाके की ठण्ड में रेलवे स्टेशनों पर गर्म लबादा ओढ़ कर गंतव्य की ओर जाने वाली ट्रेनों का इंतजार करते देखे गए। कोहरे से सडक परिवहन भी प्रभावित हुआ।

दौसा से मिली खबर के अनुसार मौसम खुलने के साथ सर्द हवाएं चलने से बीती रात ग्रामीण इलाकों में पाला पडने से फसलों को भारी नुकसान की आशंका से किसानों के चेहरे मुरझा गए। राज्य की राजधानी जयपुर में पिछले एक करीब एक माह से पड रही कड़ाके की सर्दी बीती रात एक बार फिर पारा लुढने से और बढ गयी। यहां बीती रात 4.8 डिग्री सेल्सियस तापमान के साथ शीतलहर बरकरार रही लेकिन सुबह दस बजे बाद गुनगुनी धूप खिलने से हाड कंपाने वाली सर्दी से लोगों को हल्की राहत मिली।
  
मौसम विभाग के अनुसार राज्य के एकमात्र पर्वतीय पर्यटन स्थल माउंट आबू में पारा  1.4 डिग्री रहा वहीं मैदानी इलाकों में  मरुस्थल में स्थित चूर 3.1 डिग्री के साथ सबसे सर्द स्थान रहा1 मरुनगरी बीकानेर में पारा 4 डिग्री, पिलानी में 4.6 डिग्री, सीमावर्ती गंगानगर में 4.6 डिग्री, जैसलमेर में 6.2 डिग्री, चित्तौडगढ में 6.6 डिग्री, झीलों की नगरी उदयपुर में 7.4 डिग्री. चम्बल किनारे स्थित कोटा में 7.6 डिग्री , ख्वाजा नगरी अजमेर में 8 डिग्री, बाडमेर में 8.2 डिग्री तथा सूर्य नगरी जोधपुर में पारा लुढक कर 8.6 डिग्री हो जाने से शीतलहर का असर बरकरार रहा जिससे बचने के लिये लोगों ने अलाव का सहारा लिया और घरों में दुबके  रहे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You