गृह मंत्रालय का अनुरोध, दिल्ली पुलिस के मामलों में हो तेजी से जांच

  • गृह मंत्रालय का अनुरोध, दिल्ली पुलिस के मामलों में हो तेजी से जांच
You Are HereNational
Monday, January 20, 2014-11:49 PM

नई दिल्ली: आप के नेतृत्व वाली दिल्ली सरकार के साथ गतिरोध दूर करने की कवायद में गृह मंत्रालय ने उप राज्यपाल से अनुरोध किया है कि वह कथित पुलिस ज्यादती के विभिन्न मामलों की जांच तेजी से सुनिश्चित करें और जल्द से जल्द रिपोर्ट सौंपें। सूत्रों ने बताया कि गृह मंत्रालय को कथित पुलिस ज्यादती की विभिन्न घटनाओं की न्यायिक जांच की रिपोर्ट का इंतजार है। रिपोर्ट आने के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल से मुलाकात के बाद जांच का आदेश उप राज्यपाल नजीब जंग ने दिया। पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर केजरीवाल और उनके मंत्रिमंडलीय सहयोगी रेल भवन के निकट धरने पर बैठे हैं। दिल्ली के दो मंत्री सोमनाथ भारती और राखी बिडला ने दो अलग अलग मामलों में तीन पुलिस अधिकारियों पर सहयोग नहीं करने का आरोप मढा है। भारती ने मालवीय नगर पुलिस पर आरोप लगाया है कि उसने अफ्रीकी नागरिकों के ठिकाने पर छापा मारने में सहयोग नहीं किया। भारती का आरोप था कि ये नागरिक खिडकी गांव में कथित मादक द्रव्य एवं सेक्स रैकेट में लिप्त थे।

राखी ने सागरपुर पुलिस पर आरोप लगाया है कि पुलिस उस परिवार के सदस्यों को बचा रही है, जिन्होंने कथित रूप से अपनी बहू को दहेज के लिए जला दिया। तीसरा मामला नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के निकट डेनमार्क की महिला के साथ सामूहिक बलात्कार की घटना है। गृह मंत्रालय का यह कदम स्थिति को शांत करने के कदम के रूप में देखा जा रहा है। इस बीच सरकारी सूत्रों ने बताया कि मंत्रालय स्थिति पर नजर रखे हुए है और कानून व्यवस्था कायम रखने को तरजीह दी जाएगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You