बिहार में BJP, बंगाल में TMC और ओडि़शा में BJD लोस सीटों पर जीतेगी चुनाव: सर्वे

  • बिहार में BJP, बंगाल में TMC और ओडि़शा में BJD लोस सीटों पर जीतेगी चुनाव: सर्वे
You Are HereNcr
Tuesday, January 21, 2014-10:06 AM

नई दिल्ली: तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) और बीजू जनता दल (बीजद) आगामी लोकसभा चुनाव में क्रमश: पश्चिम बंगाल और ओडिशा में सर्वाधिक सीटें हासिल करेंगी, जबकि बिहार में भाजपा अपने प्रतिद्वंद्वियों को पीछे छोड़ देगी। इस बात का खुलासा आम चुनावों से पहले कराए गए एक सर्वेक्षण में हुआ है।

सीएनएन-आईबीएन और सेंटर फॉर द स्टडी ऑफ डेवलपिंग सोसाइटीज (सीएसडीएस) द्वारा कराए गए सर्वेक्षण के अनुसार आम आदमी पार्टी (आप) को राष्ट्रीय स्तर पर चार फीसदी लोगों का समर्थन मिल सकता है लेकिन नया संगठन दिल्ली में 48 फीसदी वोट हासिल कर सकता है। सर्वेक्षण के अनुसार लोगों के मौजूदा मूड के अनुसार पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस 20 से 28 सीटें जीत सकती है जबकि वाम मोर्चा 7 से 13 सीटें हासिल कर सकता है। कांग्रेस को पांच से 9 सीटें मिल सकती हैं जबकि भाजपा को 0 से 2 सीटें मिल सकती हैं।

सर्वेक्षण के अनुसार पश्चिम बंगाल में 60 फीसदी लोगों ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के प्रदर्शन से संतोष जताया जबकि नरेंद्र मोदी को लोग प्रधानमंत्री पद के लिए सर्वाधिक तरजीह दे रहे हैं। मोदी का 18 फीसदी लोगों ने समर्थन किया जबकि 11 फीसदी लोगों ने ममता को तरजीह दी। बिहार में भाजपा को स्पष्ट तौर पर बढ़त हासिल होते दिखाई गई है। वहां भाजपा और जद यू के बीच 17 साल पुराना गठबंधन पिछले साल टूट गया था।

सर्वेक्षण में राज्य में भाजपा को 16 से 24 सीटें मिलने की बात कही गई है जबकि जद (यू) को 7 से 13 सीटें मिल सकती हैं। सर्वेक्षण में लालू प्रसाद नीत राजद को 6 से 10 सीटें मिलने की बात कही गई है जबकि कांग्रेस को 0 से 4 सीटें मिल सकती हैं। सर्वेक्षण के निष्कर्षों में कहा गया है कि 63 फीसदी लोग मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काम से संतुष्ट हैं जबकि 55 फीसदी लोगों ने महसूस किया कि राज्य में उनकी सरकार एक और मौका पाने की हकदार है। 

सर्वेक्षण के अनुसार ओडि़शा में अगर चुनाव अभी हुए तो बीजद को 10 से 16 सीटें मिलेंगी वहीं कांग्रेस 3 से 9 सीटें जीत सकती है और भाजपा को 0 से 4 सीटें मिल सकती है। सर्वेक्षण में 70 फीसदी लोगों ने मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के प्रदर्शन के प्रति संतोष जताया।

सर्वेक्षण में यह भी खुलासा हुआ कि बिहार में ज्यादातर लोगों ने महसूस किया कि नरेंद्र मोदी की रैली के दौरान सुरक्षा में हुई चूक के लिए नीतीश कुमार जिम्मेदार थे। एक यह भी निष्कर्ष सामने आया कि 18 राज्यों में 54 फीसदी उत्तर देने वालों ने आप का नाम सुना था जबकि सिर्फ 3 फीसदी लोगों ने प्रधानमंत्री के रूप में अरविंद केजरीवाल का समर्थन किया। सर्वेक्षण में कहा गया है कि कुल 291 संसदीय क्षेत्रों में 1081 स्थानों पर 18 हजार 951 मतदाताओं की राय ली गई।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You