नेताओं को जीवनी लिखनी चाहिए : उमर

  • नेताओं को जीवनी लिखनी चाहिए : उमर
You Are HereNational
Tuesday, January 21, 2014-11:30 AM

जम्मू: जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुला की सलाह है कि नेताओं को अपने संघर्ष को पारदर्शी रूप में पेश करने के लिए जीवन लिखनी चाहिए। मुख्यमंत्री ने आज यहां एक समारोह में कहा कि जीवन की सबसे महत्वपूर्ण बात है कि आपके लेखन से जीवन में हुई घटनाओं, उसके जीवन, इतिहास और अन्य चीजों की सीधी जानकारी मिल जाती है।

उन्होंने कहा, ‘‘इससे नई पीढ़ी को नेताओं के राजनीतिक जीवन और कार्यों के बारे में जानने का मौका मिलेगा। वह अपने बारे में लिखकर सबकुछ स्पष्ट कर सकते हैं।’’ उमर ने कहा कि जीवनियां अपने पाठकों को न सिर्फ ऐतिहासिक घटनाओं, सामाजिक व्यवस्था, शैक्षणिक वातावरण, आर्थिक स्थिति के बारे में बताती हैं बल्कि लेखक के जीवन और काम के बारे में भी बताती हैं। उमर मीर गुलाम मोहम्मद पूंची की जीवनी ‘यादों की सौगात’ का विमोचन कर रहे थे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You