केजरीवाल के धरने के खिलाफ जनहित याचिका पर सुनवाई के लिए SC सहमत

  • केजरीवाल के धरने के खिलाफ जनहित याचिका पर सुनवाई के लिए SC सहमत
You Are HereNational
Tuesday, January 21, 2014-2:12 PM

नई दिल्ली: उच्चतम न्यायालय दिल्ली पुलिस के कुछ अधिकारियों के तबादले के लिये मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल और कानून मंत्री सोमनाथ भारती के ‘आन्दोलन और सड़क पर संघर्ष’ का रास्ता अपनाने के खिलाफ दायर जनहित याचिका पर शुक्रवार को सुनवाई करेगा।
प्रधान न्यायाधीश पी सदाशिवम की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने कहा कि अधिवक्ता मनोहर लाल शर्मा की जनहित याचिका पर 24 जनवरी को सुनवाई करने का निश्चय किया है। शर्मा ने इस याचिका पर तत्काल सुनवाई के लिये प्रधान न्यायाधीश के समक्ष इसका उल्लेख किया था। याचिका में केजरीवाल और भारती की गिरफ्तारी की मांग की गयी है। 

याचिकाकर्ता का आरोप है कि वे सांविधानिक पदों पर आसीन होने के बावजूद कानून का उल्लंघन करके आन्दोलन कर रहे हैं क्योंकि वे दूसरी सांविधानिक संस्थाओं के खिलाफ सड़कों पर आन्दोलन नहीं कर सकते हैं। शर्मा का आरोप है कि मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल चार विदेशी महिलाओं द्वारा दर्ज प्राथमिकी के सिलसिले में जांच और कानूनी कार्यवाही से अपने कानून मंत्री सोमनाथ भारती को संरक्षण प्रदान करने का प्रयास कर रहे हैं। याचिका में कहा गया है कि 15-16 जनवरी की रात में कुछ लोगों ने इन महिलाओं के घर में घुसकर उन पर हमला किया था। 

दिल्ली की एक अदालत ने नाइजीरिया और यूगांडा की चार महिलाओं की याचिका पर इस घटना के सिलसिले में प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश दिया था।  इस बीच, केजरीवाल, भारती और उनके समर्थक रेल भवन के बाहर कल से डेरा डाले हुये हैं। इनकी मांग है कि कानून मंत्री के निर्वाचन क्षेत्र मालवीय नगर में कथित रूप से नशीले पदार्थो और वेश्यावृत्ति के धंधे का पर्दाफाश करने के लिये वहां छापा मारने से इंकार करने वाले पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाये। केजरीवाल की मांग है कि मंत्री के आदेश पर कार्रवाई करने से इंकार करने वाले चार अधिकारियों को निलंबित किया जाये।

धरने के कारण क्षेत्र में सभी सार्वजनिक सुविधाएं बंद
केजरीवाल के लुटियंस दिल्ली में रेल भवन के पास चल रहे धरने के कारण क्षेत्र में सभी सार्वजनिक सुविधाएं बंद कर दी गयी है। धरना स्थल पर पहुंचंने से लोगों को रोकने के लिए जगह जगहअवरोधक लगाए गए हैं। आस पास की जलपान की दुकानों को बंद करने के निर्देश दिये गये  है। क्षेत्र के  सभी शौचालयों को भी बंद कर दिया गया है1

गौरतलब है कि केजरीवाल के साथ सैकड़ों लोग धरने पर बैठे है। उन्हें नित्यकर्म से निपटने में भी खासी परेशानी का सामना करना पडा। इसी बीच हजारों लोग धरना स्थल पर पहुंचने की कोशिश कर रहे है।  केजरीवाल के लिए नाश्ता घर से उनकी पत्नी लेकर आयी। अन्य लोगों को भी जलपान का प्रबंध अपने अपने घर से कराना पडा।  संसद थाने के सामने पुलिस के असंख्य जवानों तथा कैट्स की कई एंबुलेंस की तैनाती कर दी गई है।  रैपिड एक्शन  फ ोर्स को तैयार रखा गया है।  मेट्रो रेल के पटेल चौक, केंद्रीय सचिवालय, उद्योग भवन और रेसकोर्स स्टेशन अगले आदेश तक बंद कर दिए गए है जिससे यात्रियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पडा है। इस बीच  केजरीवाल ने लोगों से बडी संख्या में धरना स्थल पर पहुंचने का आह्वान किया है। इसके लिए एसएमएस किए जा रहे हैं और सोशल मीडिया का सहारा लिया जा रहा है। नई दिल्ली क्षेत्र में धारा 144 लागू कर दी गयी है और विजय चौक और गृह मंत्रालय के मुख्यालय. नार्थ ब्लाक. की ओर जाने वाले सभी रास्ते बंद कर दिए गए हैं1 हालांकि संबंधित कर्मचारियों को पहचान पत्र दिखाने के बाद जाने दिया जा रहा है।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You